सादगी, मगर पूरी श्रद्धा से पूजे गए देव शिल्पी महर्षि भृगु पुत्र विश्वकर्मा

बलिया/सिकन्दरपुर से संतोष शर्मा

आदि शिल्पी भगवान विश्वकर्मा की जयंती गुरुवार को जिले में धूमधाम से मनाई गई. हालांकि कोरोना महामारी को देखते हुए न ही कहीं पर मूर्ति रखी गई और न ही बड़े-बड़े आयोजन किए गए. अपितु कल कारखानों में विधिवत पूजन अर्चन व हवन कर प्रसाद वितरण किया गया.

बलिया सिटी के नलकूप खंड द्वितीय, पीडब्ल्यूडी कार्यालय व बिजली विभाग के कार्यालयों में पूजन किया गया. इसी क्रम में टाउन पालीटेक्निक में विश्वकर्मा पूजन समारोह कर्मशाला विभाग में किया गया. प्रबंध समिति अध्यक्ष अरविद कुमार श्रीवास्तव प्रधानाचार्य इं.कृष्ण मोहन सिंह, बृजभूषण कुमार, राकेश कुमार यादव, विजय सिन्हा, निखिलेंद्र नाथ मिश्र मौजूद थे. अध्यक्षता विनोद कुमार ने किया.

इसे भी पढ़ें  – युवा इंजीनियर विश्वकर्मा ने सुंदरी हेमा से रचाया प्रेम विवाह

इसी तरह दुबहड़ के नगवा में पं. प्रमोद चौबे ने वैदिक मंत्रोचार के साथ भगवान विश्वकर्मा का पूजन कराया. इस मौके पर सुनील पाठक ने क्षेत्र के एक दर्जन शिल्पकारों को अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया. विमल पाठक, मुन्ना पाठक, डॉ. बृकेश पाठक, राकेश पाठक, अरुण सिंह, गोविद पाठक, भरत पाठक, बब्बन विद्यार्थी, गोविद शर्मा आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – जानिए कैसे भृगु ऋषि का बेटा बन गया शिल्पी विश्वकर्मा

सिकंदरपुर में इस दौरान कल कारखानों को कागज की पत्तियों से सजा कर पूजा किया गया. काष्ठकर्मी, लौहकर्मी जनों के साथ ही अभियांत्रिकी प्रतिष्ठानों में भी लोगों ने विधि-विधान से बाबा विश्वकर्मा की पूजा की. विश्वकर्मा पूजा के मद्देनजर नगर समेत आस-पास के इलाकों में सुबह से ही काफी चहल-पहल दिखी.

जगह-जगह लौहकर्मियों और काष्ठकर्मी जनों ने सुबह से अपने-अपने प्रतिष्ठानों को सजाया था. साफ-सफाई के बाद दोपहर बाद बाबा विश्वकर्मा की फोटो स्थापित करके पूजन-अर्चन किया. अपने-अपने मशीनों की विधि-विधान से पूजा की हवन-पूजन के साथ समापन हुआ. नगर स्थित तमाम जगहों पर विश्वकर्मा पूजन का आयोजन किया गया.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.