बाढ़ से किसानों के हुए नुकसान पर पाई पाई मुआवजा देंगे – अनिल राजभर

बाँसडीह (बलिया) से रविशंकर पांडेय

जिले के प्रभारी मंत्री अनिल राजभर बाढ़ प्रभावित इलाके का मंगलवार को तूफानी दौरा किए. सरयू (घाघरा) नदी के इलाके में भ्रमण के दौरान मंत्री अनिल राजभर बांसडीह तहसील के खादीपुर, सुल्तानपुर, पर्वतपुर पहुँचे. खादीपुर में रिंगबन्धे पर निवास करने वाले लोगों ने मंत्री से कहा कि रिंगबन्धे को बचाइए तो मंत्री ने कहा कि हर हाल में बचाया जाएगा.

प्रभारी मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जनपद भ्रमण के लिए आए हैं. बाढ़ प्रभावित इलाके में किसानों के नुकसान का आंकलन के पश्चात मुआवजा दिया जाएगा. वहीं लोगों ने मंत्री से कहा कि मंत्री जी, अगर इसी तरह जलस्तर में वृद्धि होता रहा, तो गांवों को बचा पाना मुश्किल हो जाएगा. इस पर मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि अधिकारीगण लगातार नजर बनाए हुए हैं. कोई नुकसान नहीं होगा. बाढ़ तो हमेशा आती रही है, लेकिन पलायन की स्थिति में 90% कम हुआ है. मुख्यमंत्री जी के मंशानुरूप सार्थक पहल सब हो रहा है.

प्रभारी मंत्री के साथ राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल, भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, भाजपा विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह, केतकी सिंह, रामजी सिंह, उपजिलाधिकारी दुष्यंत कुमार मौर्य, तहसीलदार गुलाबचन्द्रा, नायब तहसीलदार अंजू यादव आदि भी इस मौके पर मौजूद रही.

प्रभारी मंत्री को जानकारी दी गयी कि आठगाँवा, इम्ब्राहिमाबाद नौबरार में घाघरा नदी से हो रहे कटान को रोकने के लिए सारी व्यवस्था की गयी है. ड्रेसिंग का कार्य पहले एक किलोमीटर की दूरी थी. जिसमें जलस्तर के बढ़ने के कारण अब 300 मीटर दूरी तक कार्य किया जा रहा है. प्रतिदिन बोरी में ईंट व बालू भरकर नदी में डाला जा रहा है और यह कार्य रक्षाबंधन से शुरू किया गया है. इस पर मंत्री ने ड्रेसिंग का कार्य कर रहे मजदूरों की सराहना की और कहा कि मजदूरों का मानदेय नहीं रुकना चाहिए. अगर इनका मानदेय रुकता है तो कार्रवाई की जायेगी. उन्होने कहा कि ड्रेसिंग का कार्य तीन दिन के अन्दर पूरा हो जाना चाहिए. कहा कि मुख्यमंत्री का सख्त निर्देश है कि बाढ़ वाले इलाकों में सारी तैयारियां पूरी कर ली जाए. इसमें किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी. विभागों की तरफ से किसी प्रकार की लापरवाही नही होनी चाहिए.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.