झूठ और फरेब पर चल रही है केंद्र और राज्य सरकार : रामगोविंद

बांसडीह: नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने कहा कि भाजपा की केन्द्र और प्रदेश सरकार केवल झूठ, फरेब और गलत भाषणों पर चल रही हैं. जनता से चुनावो में किये गये वादे पर सरकार अमल नही कर रही हैं. आमलोग परेशान हैं. वह तहसील परिसर में समाजवादी पार्टी के बांसडीह विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं के धरना प्रदर्शन को सम्बोधित कर रहे थे.

चौधरी ने कहा कि प्रदेश में गलत नीतियों और सरकार की कार्यशैली के कारण अपराध चरम पर हैं. युवाओं को रोजी-रोजगार पर संकट है, महंगाई चरम पर हैं. प्रदेश के तहसील और थानों के साथ ही सभी कार्यालयों में घुसखोरी के कारण आम जनता परेशान हैं. डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस के लगातार दाम बढ़ने से गरीबों को खाने पर भी संकट हैं.

उन्होंने कहा कि प्रदेश के सीएम का प्रदेश में नौकरी नहीं, योग्य उम्मीदवार की कमी वाला बयान नकारात्मक कार्यशैली को दर्शाता है. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि समाजवादी पार्टी जब सत्ता में रहती है तो आम जनता के हितों के लिये कार्य करती हैं. सत्ता से बाहर होने पर आम जनता के हितों की लड़ाई लड़ती है.

रामगोविन्द चौधरी ने सरकार पर आरोप लगाया कि आधा कार्यकाल सरकार का बीत चुका हैं लेकिन जनपद में एक भी सड़क या कोई विकास कार्य नहीं कराया है. सपा के कार्यकाल में शुरू किये गये कई विकास कार्यों पर सरकार बाधित कर रही है. उन्होने कार्यकर्ताओं को सरकार के विरोध को तेज करने का आवाहन किया.

पूर्ति निरीक्षक पर भ्रष्टाचार का आरोप
नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने अचानक माइक लेकर तहसील के पूर्ति निरीक्षक पर भ्रष्ष्ट्राचार का आरोप लगाया. उन्होने कहा कि पूर्ति निरीक्षक राशन कार्ड में धन उगाही कर नाम काटने और जोड़ने के साथ ही कोटेदारों से 50 रुपया कुंतल की वसूली करते हैं. रामगोविन्द ने जनपद के डीएम और अन्य प्रशासनिक अधिकारियो को उसे तत्काल पद से हटाने की मांग की. उन्होने कहा कि यह यदि समस्या पर अधिकारी ध्यान नहीं देंगे मामले को विधानसभा में उठाया जायेगा.

एसडीएम को सौंपा 20 सूत्री मांगपत्र
धरने में कार्यकर्ताओ ने राज्यपाल को सम्बोधित 20 सूत्री मांग पत्र एसडीएम बांसडीह दुष्यंत कुमार मौर्या को सौंपा. मांगपत्र में बांसडीह विधानसभा क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक गांवों को आपदा क्षेत्र घोषित कर फसलों के साथ गरीबों को मुआवजा राशि देने, बिजली विभाग के घपले को उच्च स्तरीय जांच कराने, बिजली दर वृद्धि वापस लेने आदि की मांग की.

धरने में पूर्व जिलाध्यक्ष यशपाल सिंह, अशोक यादव, हरिमोहन सिंह, श्याम बहादुर सिंह, सुशील पाण्डेय, दीप्तमान सिंह राहुल, रविन्द्र सिंह, राणा प्रताप यादव, राणा सिंह, जगदीश, मऊन्ना राजभर, आनन्द प्रकाश सिंह, शिवजी पाठक, अभय सिंह, सुशील सिंह, अजीत सिंह, वीरेन्द्र यादव, जेपी यादव आदि शामिल थे. अध्यक्षता हरेन्द्र सिंह व संचालन हीरालाल वर्मा ने किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.