बेरोजगारी होना एक अशिक्षित होने का है संकते: डा. आफताब आलम

आॅल इण्डिया इन्स्ट्यिूट आॅफ पैरामेडिकल साइंस के तत्वावधान में विभिन्न प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

बलिया। आॅल इण्डिया इन्स्ट्यिूट आॅफ पैरामेडिकल साइंस गड़वार रोड, उमरगंज बलिया में नेहरू युवा केन्द्र बलिया के तत्वावधान में ‘सकारात्मक जागरूकता और शिक्षा कार्यक्रम‘ विषयक निबंध, पोस्टरकला एवं भाषण प्रतियोगिता का आयोजन हुआ. पोस्टर कला प्रतियोगिता में राजकीय इंटर कालेज के ऋषि शर्मा को प्रथम उसी विद्यालय के आसिफ द्वितीय एवं तरून देव को तृतीय स्थान प्राप्त किए. मु. रेहान आरिफ अंसारी तथा मनीष शर्मा को सांत्वना पुरस्कार मिला. विजेताओं को स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति प्रमाण पत्र मुख्य अतिथि पुलिस क्षेत्राधिकारी अरूण कुमार सिंह एवं नेहरू युवा केन्द्र के कपिलदेव ने देकर सम्मानित किया.

भाषण प्रतियोगिता में ऋषि शर्मा, मंतशा, आरजू जेवा, दिलीप कुमार, विवेक सिंह, मु. दानिश, ऋचा पाण्डेय को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया.

मुख्य अतिथि पुलिस क्षेत्राधिकारी सदर अरूण कुमार सिंह ने कार्यक्रम का शुभारम्भ फीता काटकर एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया. आॅल इण्डिया इन्स्ट्यिूट आॅफ पैरामेडिकल साइंस गड़वार रोड उमरगंज बलिया के पैरामेडिकल छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने यातायात नियमों का पालन करने की युवाओं को सलाह दी. कपिलदेव ने बताया कि नेहरू युवा केन्द्र युवाओं में सकारात्मक सोच को जागरूक करने के लिए सदैव तत्पर रहेगा. नेहरू युवा केन्द्र के कार्यक्रम समन्वयक सौरभ जी ने कहा कि युवाओं में सकारात्मक सोच देश की उन्नति व सुरक्षा में सहायक सिद्ध होगा. जिला विज्ञान के सह समन्वयक डा. सुधीर कुमार सिंह ने कहा कि सकारात्मक सोच सदैव इंसान को आपस में जोड़ने का काम करती है. जीआईसी के कला अध्यापक डा.इफ्तेखार खां ने छात्रों को बताया कि सकारात्मक सोच उनके भविष्य में आने वाली चुनौतियों से लड़ने में सहायक सिद्ध होगा. महामारी रोग विशेषज्ञ डा.जियाउल हुदा ने स्वच्छता पर जोर देते हुए सभी को प्रतिदिन अपनी दिनचर्या में साफ-सफाई को महत्व देने की अपील की.
इस अवसर पर नितेश उपाध्याय, मु.एजाज, मु.परवेज अंसारी, डा.अनुप, डा.एनएन तिवारी, नीतू सिंह, प्रिया सिंह, अमित राय शामिल रहे. वहीं आॅल इण्डिया इन्स्ट्यिूट आॅफ पैरामेडिकल साइंस एवं जीआईसी एवं दूसरे विद्यालय के छात्र एवं छात्राओं की उपस्थिति में यह कार्यक्रम संचालित कर डा. मु. आफताब आलम ने कहा कि बेरोजगारी होना एक अशिक्षित होने का संकते है. मु. आलम ने कहा कि जागरूकता शिक्षा कार्यक्रम के बारे में बुनियादी शिक्षा एवं कार्य करने की शैली को बताते हुए एवं प्रोग्राम को सफल बनाने में डा.बदरे आलम का श्रेय जाता है. इसमें होलीपैथ कान्वेंट स्कूल के प्रबंधक भी शामिल हुए. डा. आफताब का कहना है कि प्रोग्राम से अगर सफलता 10 प्रतिशत भी मिल जाता है तो नेहरू युवा कार्यक्रम इस समाज में दबे हुए लोग ऊपर आकर अपनी बात रख सकेंगे एवं अपना कार्य करने में सफल हो सकेंगे. कार्यक्रम का संचालन पैरामेडिकल के चेयरमैन डा. आफताब आलम ने किया तथा आभार डा. बदरे आलम ने किया.