फ़तह का जश्न इस जश्न के बाद है, ज़िंदगी मौत से मिल रही है गले

मां हुई बेहोश, पत्नी गिरी ठाड़े, गूंजा- पाकिस्तान मुर्दाबाद

दुबहर (बलिया)। कश्मीर के उरी सेक्टर में रविवार को आतंकी हमले में शहीद जवान राजेश कुमार यादव की अंतिम यात्रा मंगलवार को 11.00 बजे दिन में उनके पैतृक गांव दुबहर यादव का डेरा से शुरू हुई. शव यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए. शव यात्रा प्रारंभ होते ही राजेश कुमार अमर रहे, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे गूंज उठे.

इसे भी पढ़ें – ‘एहसे जतना बतियावे के बा अबहिंए हमरा से बतिया ले रे माई’

शव पहुंचने के साथ ही आसपास के गांवों से हजारों की संख्या में लोग यादव डेरा पहुंचने लगे थे. ताबूत जब सेना की गाड़ी से निकालकर उनके घर के अंदर पहुंचाया गया तो राजेश की मां सेमरिया देवी बेटे का शव देखकर बेहोश हो गईं. वही पत्नी पार्वती देवी ताबूत पर ही गिर पडी. रिश्तेदारों एवं सगे-संबंधियों का रोते-रोते बुरा हाल था. सभी को रोते देख शहीद राजेश यादव की पुत्रियां प्रीती और राधिका भी रोने लगी.

ramgovind
शहीद की शवयात्रा में प्रदेश सरकार का प्रतिनिधित्व कैबिनेट मंत्री रामगोविंद चौधरी ने किया.

इसे भी पढ़ें – दुबहर पहुंचा शहीद का शव, दर्शन को उमड़ा जनसैलाब

घाट पर लकड़ी के ऊपर चिता सजाने के बाद सबसे पहले सिविल पुलिस ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया. उसके बाद सेना के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया. राज्य सरकार की ओर से कैबिनेट मंत्री रामगोविंद चौधरी तथा जिला प्रशासन की ओर से जिलाधिकारी गोविंद राजू एनएस तथा पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने शव पर पुष्पचक्र चढ़ाया. राजेश के बड़े भाई श्रीभगवान यादव ने दी मुखाग्नि.

इसे भी पढ़ें – भड़सर गंगा घाट पर होगी शहीद राजेश की अंत्येष्टि

शवयात्रा में कैबिनेट मंत्री रामगोविंद चौधरी, जिलाधिकारी गोविंद राजू एनएस, पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी, सदर एसडीएम, नगर पुलिस क्षेत्राधिकारी, जिला पंचायत अध्यक्ष सुधीर पासवान, जिला पंचायत सदस्य तथा दुबहर के प्रधान बिट्टू मिश्र, अखार के प्रधान प्रतिनिधि सुनील सिंह, घोड़हरा के प्रधान नफीस अख्तर, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राज मंगल यादव, पूर्व सैनिक कल्याण समिति के अध्यक्ष मेजर रामदेव, ब्लाक अध्यक्ष कामता सिंह, हवलदार पशुपति सिंह आदि शामिल हुए.

इसे भी पढ़ें – गर्भवती है शहीद लांस नायक राजेश की पत्नी पार्वती

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.