पुखरायां ट्रेन हादसे में ढेकवारी के भी दो कमासुतों की मौत

बिल्थरारोड (बलिया) से अभयेश मिश्र

abhayesh_mishraझांसी कानपुर रेलखण्ड पर पुखरायां स्टेशन के समीप रविवार को भोर में 3.10 बजे हुए भीषण रेल हादसे में बिल्थरारोड तहसील क्षेत्र अंतर्गत नगरा थाना क्षेत्र के ढेकवारी गांव के दो लोग काल के गाल में समा गए. इस हादसे में एक युवक गम्भीर रूप से घायल हो गया है. ट्रेन दुर्घटना में दो लोगों के मरने व एक के घायल होने की खबर जैसे ही उनके गांव पहुंची, चारों तरफ शोक छा गया तथा परिजनों में कोहराम मच गया. परिजनों के करुण क्रंदन से मौजूद लोगो की आंखें नम हो गईं. घटना की जानकारी मिलते ही गांव के लोग घटना स्थल के लिए रवाना हो गए. इंदौर में प्राइवेट कम्पनियो में काम करते थे तथा शादी में भाग लेने के लिए घर आ रहे थे.
ढेकवारी गांव के दलित परिवार के मुन्ना राम (45) हरिद्वार, राजकिशोर (20) पुत्र लालजी राम तथा मुन्ना का पुत्र मुकेश (18) इंदौर स्थित किसी प्राइवेट कम्पनी में कार्य करते थे. मुन्ना  भाई हरिश्चंद की पुत्री की शादी 22 नवम्बर को तय है. शादी में ही शामिल होने के लिए तीनों राजेंद्र नगर-पटना-इंदौर एक्सप्रेस से घर लौट रहे थे. हालांकि ईश्वर को कुछ और ही मंजूर था. पुखरायां के समीप ट्रेन के पटरी से उतर जाने से हुए भीषण एवं दर्दनाक हादसे में मुन्ना और राजकिशोर की मौत हो गई. इस हादसे में मुकेश गम्भीर रूप से घायल हो गया. घायल मुकेश ने ही किसी तरह घटना की जानकारी गांव पर दी. सूचना मिलते ही दोनों मुन्ना और राजकिशोर के परिजन बदहवास हो गए. उनके आंखों के सामने अंधेरा छा गया.
पुखरायां रेल हादसे में काल कवलित हुए ढेकवारी निवासी राजकिशोर अपने घर का इकलौता कमाऊ सदस्य था. पिता लाल जी की मौत के बाद पूरे घर के जीविकोपार्जन की जिम्मेदारी उसी के कन्धे पर थी. घर के कमाऊ पूत की मौत से मां रम्भा देवी एवं बहन अपना सुध बुध खो बैठी हैं. मां रह रह के बेहोश हो जा रही है. होश में आने पर पुत्र का नाम लेकर रो रही है. वहीं मुन्ना के परिजनों पर भी दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. मुन्ना की पत्नी जगेंती व पुत्री रीमा (17) का रोते रोते बुरा हाल है. पुत्र देवानन्द, नागेन्द्र एवं अभिषेक सहित अन्य परिजन समझ नहीं पा रहे हैं कि अचानक ये क्या हो गया. आस पास की महिलाएं दोनों घर की महिलाओं को समझा बुझा रही हैं. मुन्ना की पुत्री की अभी शादी नहीं हुई है. 22 नवम्बर को होने वाली भतीजी की शादी अब कैसे सम्पन्न होगी. शादी की तैयारी जोरों पर चल रही थी. हल्दी मड़वा भी हो चुका है. इस घटना ने परिवार में छाई खुशियों को गम में बदल दिया. दोनों परिवारों के महिलाओं युवतियों के चीख पुकार से माहौल गमगीन है. इस हृदयविदारक घटना से पूरा गांव मर्माहत है.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.