न टीवी न अखबार, बस खांटी समाचार - आज की खबर अभी देखें - सिर्फ बलिया LIVE पर

डीपीआरओं ने देखा स्‍वच्‍छ भारत मिशन का साकार होता सपना

विकासखंड मुरलीछपरा के ग्राम पंचायत कोड़हरा नौबरार जयप्रकाशनगर में स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण की जांच करने मंगलवार को डीपीआरओं राकेश कुमार यादव जयप्रकाशनगर पहुंचे.

Read more

तमंचा दिखाकर राहगीरों की बाइक, नकदी व मोबाइल की लूट

टोला शिवन राय के पूरब सठिया ढाला पर सोमवार की रात हथियारबन्द लुटेरों ने बाइक सवार दो लोगों से लूट पाट किया. कट्टा की मुठिया से सिर पर वार करके उन्हें घायल भी कर दिये.

Read more

जेपी इंटर कॉलेज को मिली इंटर विज्ञान की मान्‍यता

जयप्रकाशनगर में स्थित जयप्रकाश इंटर कालेज, सेवाश्रम में नए सत्र जुलाई-2017 से अब विज्ञान की भी कक्षाएं चलेंगी. अब इस इंटर कालेज को इंटर विज्ञान से भी मान्‍यता मिल चुकी है.

Read more

प्रधान रूबी सिंह अपने निजी खर्चे से ग्राम पंचायत में लगवा रही 200 हाइलोजन लैम्प पोस्ट

मुरली छपरा ब्लॉक अंतर्गत कोडरहा नौबरार (जयप्रकाशनगर) ग्राम पंचायत की महिला प्रधान रूबी सिंह अपने ग्राम पंचायत में प्रकाश की व्यवस्था सुनिश्चित कराने में जोर-शोर से लग गई है.

Read more

बच्चों में बंटी मिठाई, निलय व रेखा ने दी जननायक को भावभीनी श्रद्धांजलि

पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की जयंती पर जेपी ट्रस्‍ट के प्रांगण में स्थित चंद्रशेखर कक्ष में भी पुष्‍पांजलि देने के सांथ, ट्रस्‍ट के व्‍यवस्‍थापक अशोक कुमार सिंह की ओर से बच्‍चों में मिठाइयां वितरित की गई.

Read more

नहीं भूलती जेपी के घर चंद्रशेखर की वह आखिरी शाम

राजनीति के इस बिगड़े स्‍वरूप के बीच चंद्रशेखर ही एक ऐसे राजनेता थे, जिनके लिए कभी जन-जन रो पड़ा. जी हां बात 10 अक्‍टूबर 2006 की है, जब चंद्रशेखर आखिरी बार जयप्रकाशनगर आए थे.

Read more

4जी के युग में भी नहीं है गांव के घुनसार का कोई विकल्‍प

निया के लोग 4जी के इस युग में चाहे जितना भी तेज दौड़ लगा लें, किंतु उन्‍हें गांव की कुछ परंपराओं का उचित विकल्‍प आज भी नहीं मिल सका है. गांव की उसी परंपरा में से एक है घुनसारी.

Read more

सिताबदियारा से पटना फिर चलेगी निगम की बस

लोकनायक जयप्रकाश नारायण के गांव सिताबदियारा से पटना तक चलने वाली बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की बस एक बार फिर सिताबदियारा से छपरा की राह आसान करने वाली है.

Read more

मूंछें हो तो सिताबदियारा के सरल बैठा जैसी

इंसान के शौक भी अजीब किस्‍म के होते हैं. अब अगर शौक है तो उसमें सनक भी होगी ही. नाम व प्रसिद्धि पाने के लिए कुछ ऐसा ही शौक चढ़ा है जेपी के गांव सिताबदियारा के अंबिका बैठा उर्फ सरल बैठा पर.

Read more

चल कबड्डी आस लाल, मर गए प्रकाश लाल, मेरा मूंछ लाल-लाल-लाल-लाल

आज सारा जमाना क्रिकेट पर फिदा है. बच्‍चे-बच्‍चे की जुबान पर क्रिकेट छाया हुआ है, किंतु जेपी के गांव सिताबदियारा के लाला टोला में आज भी कबड्डी खेल की वह पुरानी परंपरा आज भी कायम है.

Read more

न टीवी न अखबार, बस खांटी समाचार - आज की खबर अभी देखें - सिर्फ बलिया LIVE पर

BalliaLive.in is an initiative of Display Media Network.