गाजीपुर

अपायल में महावीर पूजन और पहलवानों का जमावड़ा कल

समीपवर्ती गांव अपायल में मंगलवार 8 नवंबर को महावीर जी का पूजन अर्चन किया जायेगा. साथ ही सुबह में गाजे बाजे के साथ गांव में भ्रमण कर 10:00 बजे से महादेव जी का जुलूस निकाला जाएगा. तत्पश्चात दिन के 12:00 बजे से विराट दंगल का आयोजन भी है.

छठ पर गाजीपुर के घाटों पर दिखा ऐसा नजारा

बाराचंवर, ताजपुर, गोसलपुर, दुबिंहा, उतरांव पतार, राजापुर, लट्ठूडीह, देवरिया, मसौनी, गोंडऊर, पातेपुर, पैकवली जोगा, कामेश्वर धाम कारो, करीमुद्दीनपुर समेत सभी गांवों में रविवार को विधिवत पोखरों, तालाबों एवं नदी के किनारे बने छठ घाटों पर छठ मैया का विधि विधान से पूजन किया गया.

परिवर्तन यात्रा के स्वागत की भांवरकोल में जबरदस्त तैयारी

बलिया से परिवर्तन यात्रा चलकर 11 नवम्बर को गाजीपुर में प्रवेश करेगी. इस यात्रा का भव्य स्वागत मुहम्मदाबाद विधान सभा क्षेत्र के भांवरकोल ब्लाक के मिर्जाबाद मनिया चट्टी पर भाजपा नेता आनन्द राय मुन्ना के नेतृत्व में किया जाएगा.

सूमो ने ली एक भाई की जान, दूसरा गंभीर

छठ की खरीदारी कर बहन के घर जा रहे बाइक सवार दो भाई गड़वार थाना क्षेत्र में नारायणपाली के पास अनियंत्रित सूमो की चपेट में आ गए. इस हादसे में एक भाई की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं दूसरा गंभीर हालत में जिला चिकत्सालय में जिंदगी के लिए जद्दोजहद कर रहा है. हादसे के बाद सूमो लेकर ड्राइवर भाग निकला.

और उद्घाटन पान वाले ज्ञानू चौरसिया ने किया

वैसे तो आज कल हर कोई आगे की कुर्सी पर बैठना और लाल फीता काटने का मौका छोड़ना नहीं चाहता पर इस सब को दरकिनार करते हुए सिद्धार्थ राय ने महुआबाग चौराहे पर रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा के प्रयास से लगे नए रेडीमेड शौचालय का उद्घाटन खुद न कर के चौराहे पर वर्षों से पान की दुकान चलाने वाले ज्ञानू चौरसिया से करवाया.

दो पट्टीदारों के बीच जमकर चटकीं लाठियां, बाइकें फूंकी

कोतवाली क्षेत्र के जाम गांव में मंगलवार की रात बाउंड्रीवाल को लेकर दो पट्टीदार आपस में भिड़ गए. इस दौरान दोनों पक्षो में जमकर लाठी-डण्डे व ईंट-पत्थर चले, जिसमें आठ लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए. सभी घायलों का इलाज सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में करवाया गया.

जिला नहीं, नेशन है, मगर हैप्पी बर्थ डे कब है बागी बलिया का

लगभग 80 वर्षों तक गाजीपुर की एक तहसील बने रहने के बाद बलिया को जनपद का दर्जा एक नवम्बर 1879 को मिल था. 1857-58 में बलिया सर्वाधिक हलचल ग्रस्त रहा. यहां की व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त करने के लिए तथा विपरीत परिस्थितियों पर कड़ी नजर रखने के लिए जिला मुख्यालय बनाने का फैसला किया गया, जिसके फलस्वरुप गाजीपुर तथा आजमगढ़ के कुछ अंश जोड़कर 1 नवंबर 1879 ई. को बलिया जनपद की स्थापना हुई.

पहलवानों का जमावड़ा आज मुरारपट्टी में

लालगंज क्षेत्र के मुरारपट्टी में गोवर्धन पूजा के दिन दंगल का आयोजन सोमवार को होना है. इसमें पूर्व बलिया केशरी गोपाल नगर निवासी बिहारी यादव, महाज के छोटे यादव, दतहा निवासी राज कुमार के अलावा गाजीपुर, मऊ व आजमगढ़ के पहलवान भाग लेंगे. इसके मुख्य अतिथि बैरिया विधायक जय प्रकाश अंचल होंगे.

भृगु सुपरफास्ट एक्सप्रेसः उद्घाटन 28 को, संचालन 29 से

रेलवे प्रशासन द्वारा यात्रियों को सुविधा प्रदान करने हेतु 22428/22427 आनन्द विहार टर्मिनस-बलिया साप्ताहिक सुपरफास्ट भृगु एक्सप्रेस का उद्घाटन विशेष गाड़ी के रूप में बलिया से 28 अक्टूबर, 2016 को किया जाएगा.