पीएचसी कोटवा के इर्द गिर्द ही मौजूद है जापानी इन्सेफ्लाइटिस फैलाने के संसाधन

जी हाँ, यह जानकर आपको हैरत होगी कि एक तरफ जहां इन्सेफलाइटिस दूर करने के राष्ट्रीय स्तर पर अभियान चलाये जा रहे हैं. प्रधान मन्त्री तक इसके लिए गम्भीर बताए जा रहे हैं

Read more

बिल्थरारोड स्टेशन – आय के मामले में अव्वल, सहूलियत बोले तो मुंह के बल

बिल्थरारोड रेलवे स्टेशन पर रेलमन्त्री व विभागीय अधिकारियों की उपेक्षा के चलते अव्यवस्थाओं का बोलबाला है और यात्री सुविधाओं से वंचित हैं. जनप्रतिनिधियों द्वारा भी कोई ध्यान नहीं दिये जाने से यात्रियों को बदहाली का दंश झेलना पड़ रहा है.

Read more

कल देश गुलाम था पत्रकार आजाद, लेकिन आज देश आजाद है और पत्रकार गुलाम

कल देश गुलाम था पत्रकार आजाद, लेकिन आज देश आजाद है और पत्रकार गुलाम. देश में गुलामी जब कानून था तो पत्रकारिता की शुरुआत कर लोगों के अंदर क्रांति को पैदा करने का काम हुआ.

Read more

सावधान! यहां मरीज सिर्फ रेफर किए जाते हैं

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुविधाओं के अभाव में मरीजों का इलाज करने में असमर्थ है. मालूम हो कि जनपद का यह दूसरा सबसे अधिक मरीजो का इलाज कराने वाला अस्पताल है.

Read more

द्वाबा के इस ‘योगी’ से, तब भी हिल गया था बलिया

बैरिया तहसील क्षेत्र में ही बिहार की सीमा से सटे एक पंचायत है, इब्राहिमाबाद नौबरार. इसे लोग अठगांवा के नाम से भी जानते हैं. घाघरा कटान से तबाही की एक भयानक किस्‍से को समटे इस गांव की बची आबादी आज भी तब के हालात की कल्‍पना कर कांप जाती है.

Read more

एक पोस्टमास्टर बेचारा, क्या क्या करे, बोरा सिलाई करे, कागजी कार्रवाई करे या टिकट बेचे…

डाकघरों से होने वाले व्यवसाय में रानीगंज उपडाकघर जिले के टॉप टेन डाकघरों में अग्रणी है. बावजूद इसके विगत दो माह से इस डाक घर पर दुर्व्यवस्था का बोल बाला है.

Read more

धरती की प्यास बुझाने वाले गड़हों की चीत्कार, अब नहीं सुनना चाहते बहरे हो चुके शहर!

विज्ञान के बढ़ते चरण हमारे रहन-सहन को ऊंचा उठा दिया है. यही कारण है कि हम कुआं नदी व तालाबों से दूर भाग रहे हैं. उन्हें उपेक्षित कर अस्तित्वहीन करते जा रहे हैं.

Read more

4 संडे, 2 शनिवार, 4 शोक दिवस, 9 सरकारी छुट्टियां, एक तहसील दिवस, एक थाना दिवस, अब काम कब हो

अगर यह मानना सच है कि विलंब से मिलने वाला न्याय अन्याय के समान होता है, तो बैरिया तहसील के न्यायालयों में सिर्फ अन्याय ही हो रहा है. वर्षों से फरियादी अपने लंबित वादों के निस्तारण के लिए तहसील के न्यायालयों का चक्रमण कर रहे हैं.

Read more

बादशाही ऐश का चश्मदीद रहा पोखरा आज अपनी दुर्दशा की गवाही दे रहा

बारिश की कमी व अन्य कारणों से क्षेत्र के पोखरे व गड़हियों के सुख जाने से जहां पानी की किल्लत बढ़ गई है, वहीं अनेक ऐतिहासिक पोखरे अतिक्रमण की चपेट में अपना अस्तित्व खोते जा रहे हैं. उन्हीं में एक है नगर के पूर्वी – दक्षिण भाग में मौजा किलाकोहना में स्थित ऐतिहासिक किला का पोखरा.

Read more

पत्रकारिता सब को खुश नहीं कर सकती – राधेश्याम पाठक

पत्रकार परमेश्वर वर्मा की चौथी पुण्यतिथि मंगलवार को डाकवारा हाल मनाई गई. मुख्य अतिथि के तौर पर पधारे उपजिलाधिकारी राधेश्याम पाठक ने कार्यक्रम की शुरुआत स्व. परमेश्वर के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित व दीप प्रज्वलित कर की.

Read more