ballia live

लाइफ प्लस

Assignment Desk September 21, 2019

विक्रम भट्ट ने ‘1920’ और ‘राज़’ जैसी फिल्मों के साथ देश में हॉरर जॉनर में जबरदस्त काम किया है. लंबे समय बाद अब वे एक और फिल्म’घोस्ट’ लेकर आ रहे हैं.

News Desk September 6, 2019

शो ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की एक पहल है जो परिवार नियोजन और महिलाओं के सशक्तीकरण के मुद्दों पर लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने और व्यवहार को बदलने के लिए है.

News Desk September 3, 2019

फिर निरहुआ दमन चले जाते हैं और यहां यामिनी सिंह के रूप में एक थ्रिलर की इंट्री होती है. फिर होता है एक मर्डर और निरहुआ इसमें फंसते जा रहे हैं.

News Desk August 24, 2019

शादाब ने अपने लघु चित्र (शॉर्ट फिल्म) “जय श्री राम” में सही मायने में धर्मनिरपेक्षता क्या होती है, यह बताने, जताने का एक सार्थक और सराहनीय प्रयास किया है.

News Desk August 9, 2019

जम्मू – कश्मीर के विकास में बाधा थी अनुच्छेद 370. उन्होंने बताया कि उनकी मां भाई सभी जम्मू में है और जम्मू में लोग सरकार के इस फैसले से बेहद खुश हैं. सरकार ने भले वहां एहतियातन कर्फ्यू लगाए थे, लेकिन अब कर्फ्यू में ढील दी गई है. मुझे पूरी उम्‍मीद है कि कुछ सालों बाद जम्‍मू – कश्‍मीर की पहचान विकास और सकारात्‍मक चीजों के लिए होगी.

News Desk August 6, 2019

आनंद पंडित ने अपने बैनर आनंद पंडित मोशन पिक्चर्स के तहत फिल्म इंडस्ट्री को कुछ शानदार फिल्में दी हैं. जिनमें ‘प्यार का पंचनामा’, ‘ग्रेट ग्रैंड मस्ती’, ‘सरकार’, ‘सत्यमेव जयते’, ‘मिसिंग’, ‘बत्ती गुल मीटर चालू’, ‘टोटल धमाल’, सैफ अली खान स्टारर ‘बाजार’ और पीएम नरेंद्र मोदी जैसी फिल्में शामिल हैं जिन्होंने दर्शकों के बीच काफी हलचल मचाई और दुनिया भर के भारतीयों को गुणवत्तापूर्ण मनोरंजन उपलब्ध कराया.

News Desk August 5, 2019

बलिया के कुम्हिया गांव (भरखरा) निवासी अनारी बाबू केदारनाथ प्रसाद व जगेश्वरी देवी के सुपुत्र हैं. अनारी ने सात पुस्तकें लिखी हैं. इनका भोजपुरी गीत संग्रह जिनगी के थाती, आसरा के दियना, सितुही में मोती, गुलरी के फूल हैं. गजल संग्रह में अंखीयन के लोर है. धरम के धजा महाकाव्य, राजा यह सत्य प्रेमी हरीश्चन्द्र की कथा है, जिसे उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान ने प्रकाशित करवाया है.

News Desk November 13, 2018

मेरे घर के पीछे पद्मदेव पाण्डेय का मकान था. पद्मदेव पाण्डेय उस जमाने में गाँव के एक मात्र पढ़े लिखे व्यक्ति थे. वह भी Bsc , MA , L.L.B. मेरी माँ और उनकी पत्नी का आपस में बहनापा था.

News Desk November 13, 2018

जब भोजपुरी सिने स्‍क्रीन के कई बड़े दिग्‍गज सुपर स्‍टार पवन सिंह, खेसारीलाल यादव, यश कुमार, रानी चटर्जी, स्‍मृति सिन्‍हा, काजल राघवानी और निधि झा एक मंच पर हो तो महफिल में चार चांद लगना ही तय है.

error: Content is protected !!