जब बुजुर्ग कुंवर सिंह ने संभाली जंग ए मैदान की कमान

बिहार में दानापुर के क्रांतकारियों ने भी 25 जुलाई सन 1857 को विद्रोह कर दिया और आरा पर अधिकार प्राप्त कर लिया. इन क्रांतकारियों का नेतृत्व कर रहे थे वीर कुंवर सिंह. वह बिहार राज्य में स्थित जगदीशपुर के जमींदार थे.

Read more

बच्चों में बंटी मिठाई, निलय व रेखा ने दी जननायक को भावभीनी श्रद्धांजलि

पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की जयंती पर जेपी ट्रस्‍ट के प्रांगण में स्थित चंद्रशेखर कक्ष में भी पुष्‍पांजलि देने के सांथ, ट्रस्‍ट के व्‍यवस्‍थापक अशोक कुमार सिंह की ओर से बच्‍चों में मिठाइयां वितरित की गई.

Read more

अब बीते जमाने की बात हो गई डोली

भारतीय संस्कृति विलक्षण है. ऐसी संस्कृति दुनिया के किसी अन्य देशों में देखने को नहीं मिलेगी. यह दलील इसलिए भी सही है कि यहां की मिट्टी में कई मजहब, भाषा, रीति-रिवाज, रहन-सहन हमें कदम-कदम पर बदलते हुए मिलते रहते हैं.

Read more

झुलत झुलत मईया के लगली पियसिया कि ओहि से…

बलिया जनपद के विभिन्न गांवों में मंगलवार को देर रात तक रामनवमी के पावन पर्व के अवसर पर मातादाई का पूजन अर्चन महिलाओं द्वारा धूमधाम से किया गया.

Read more

हम उस देश के वासी हैं, जिस देश में गंगा-सरयू तड़पती हैं

हमारे जीवन में मां की अहमियत ही कुछ और है. हम चाहे कितने भी कठोर हो जाएं, किंतु मां कठोर नहीं होती, किंतु हम बार-बार वही गलती करे तो फिर मां के दिल पर क्‍या गुजरती है, इसका सहज अनुभव किया जा सकता है.

Read more

राष्ट्रपति भवन में मशरूम लेडी दिव्या रावत को नारी शक्ति पुरस्कार

मशरूम क्रांति के जरिये देश-दुनिया में नाम कमाने वाली दिव्या रावत को नारी शक्ति पुरस्कार 2016 से नवाजा जाएगा. आठ मार्च को महिला दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में उन्हें यह पुरस्कार प्रदान किया जायेगा.

Read more

सिताबदियारा में आस्‍था केंद्र सेवादास का शिव मंदिर

कभी सिताबदियारा में ऐसे ही एक महान संत का पदापर्ण हुआ, जिनके बदौलत यहां सेवा दास शिव मंदिर की स्‍थापना संभव हो सकी. महाशिव रात्रि पर वही शिव मंदिर संपूर्ण सिताबदियारा वासियों के लिए आस्‍था का केंद्र बन जाता है.

Read more

सिकंदरपुर -अफसाने को अंजाम तक न सही, खूबसूरत मोड़ तक पहुंचने की है छटपटाहट

बकौल साहिर लुधियानवी वो अफसाना जिसे अंजाम तक लाना न हो मुमकिन, उसे इक खूबसूरत मोड़ देकर छोड़ना अच्छा. ऐसे ही एक खूबसूरत मोड़

Read more

बांसडीह में बिसात बिछते ही शुरू हो चुका है शह-मात का खेल

सूबे के चुनावी महासंग्राम में बांसडीह विधान सभा क्षेत्र के पार्टियों तथा उम्मीदवारों के बनते-बिगड़ते समीकरण के बीच करीब-करीब अब उम्मीदवारों की स्थिति स्पष्ट हो चुकी है.

Read more

मेला दिलों का आता है, एक बार, आ के चला जाता है

द्वाबा की धरती पर धनुष यज्ञ मेला एक नहीं कई मायनों में खास है. इस मेले में न सिर्फ खरीदारी होती है, बल्कि कई युगल जोड़ों के वैवाहिक रिश्ते भी इस मेले में तय होते हैं.

Read more