मुझे दी जा रही गालियों का जवाब जनता जनार्दन देगी – नरेंद्र मोदी

मुझे दी जा रही गालियों का जवाब जनता जनार्दन देगी – नरेंद्र मोदी

बलिया। लोकसभा चुनावों के तहत 6 चरणों का मतदान संपन्न हो चुका है और अब सिर्फ एक फेज की वोटिंग बाकी है. अब अंतिम चरण में सबकी निगाहें प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के अलावा पटना साहिब जैसी वीवीआईपी सीटों पर है. 19 मई को होने वाले सातवें और आखिरी चरण की वोटिंग में बलिया भी एक महत्वपूर्ण सीट है, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा उम्मीदवार वीरेंद्र सिंह मस्त के समर्थन में सभा करने पहुंचे. पीएम नरेंद्र मोदी ने आज इस क्रम में बागी के नाम से विख्यात बलिया में भाजपा विजय संकल्प रैली को संबोधित किया. बलिया से भदोही के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त भाजपा के प्रत्याशी हैं. भाजपा ने सांसद भरत सिंह को इस बार प्रत्याशी नहीं बनाया है.

पीएम नरेंद्र मोदी आज बलिया में बिल्कुल बागी हो गए. मंच से खुलकर बोले और जनता को मोह लिया. बलिया के माल्देपुर मोड़ पर ग्राम हैबतपुर में विजय संकल्प रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी योजना भारत को सबसे शक्तिशाली देश बनाने की है. हम इस पर काफी हद तक सफल भी रहे हैं. हमको अब तो रोकने का काम तेज हो गया है. अवसरवादी तथा महामिलावटी एक होकर विरोध में लगे हैं, लेकिन मुझे तो जनता का सहयोग है. मैं इनके प्रयास को बेकार कर दूंगा. उन्होंने कहा कि मैं तो मां, बहनों और बेटियों के सम्मान में खड़ा हूं.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा मैं गरीब के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए खड़ा हूं. मैं समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को सशक्त करने के लिए जुटा हूं. अब देखना है कि यह सब महामिलावटी लोग जनता के फैसले का कैसे जवाब देंगे. पीएम मोदी ने कहा कि महामिलावट वाले सपा हो, बसपा हो, कांग्रेस हो, यह सब मोदी को गाली देने में जुटे हैं. ऐसा कोई दिन नहीं है, जब मोदी के लिए इनके मुंह से गाली नहीं निकलती है. हम भी इनकी गाली सुनकर काफी मन से तेजी से काम करने लगते हैं. हमको किसी की बुराई नहीं करनी है, हमको तो देश का विकास करना है.

पीएम ने कहा कि बागी बलिया उज्ज्वला योजना से धुएं से मुक्त हुआ है. उसके इसी समर्थन का परिणाम है महामिलावट वाले यह सारे मोदी को गाली देने में जुट गए हैं. ऐसा कोई दिन नहीं जब मोदी के लिए उनके मुंह से गाली न निकले. छह चरणों की बौखलाहट है, हार की हताशा साफ दिख रही है. मैं इनकी गालियों को उपहार मानता हूं. इनकी गालियों का जवाब मोदी नहीं यह जनता जनार्दन देगी। मैं तो मां, बहन-बेटियों के सम्मान में खड़ा हूं. समाज के आखिरी पंक्ति में जो खड़ा है उसके लिए हूं. महामिलावटी पूछ रहे हैं कि मोदी की जाति क्या है. साथियों बुआ-बबुआ दोनों मिलकर जितने साल मुख्यमंत्री नहीं रहे उससे ज्यादा समय मैं गुजरात का सीएम रहा हूं. अनेक चुनाव लड़े- लडाए हैं, लेकिन कभी अपनी जाति का सहारा नहीं लिया.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!