सीएमओ के खिलाफ गरजे कर्मचारी, दी चेतावनी

सीएमओ के खिलाफ गरजे कर्मचारी, दी चेतावनी

भुगतान नहीं होने तक राष्ट्रीय कार्यक्रमों को बाधित करने का निर्णय

बलिया। मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ बलिया एवं आशा कर्मचारी यूनियन बलिया के संयुक्त रूप से अपनी मांगों के पूरी नहीं किये जाने के कारण मुख्य चिकित्सा अधिकारी बलिया के विरूद्ध चल रहे बेमियादी धरने के दूसरे दिन शुक्रवार को सम्बोधित करते हुए परिषद की जिलाध्यक्ष सत्या सिंह ने जनपद के सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों, बीसीपीएम एवं बीपीएम को चेताया कि यह आंदोलन आशाओं, संगिनियों एवं महिला स्वास्थ्य कर्मियों के पावनों के भुगतान के लिए संगठन ने भुगतान नहीं होने तक राष्ट्रीय कार्यक्रमों को बाधित करने का निर्णय लिया है.
अगर हमारे महिला स्वास्थ्य कर्मियों एवं आशाओं पर दबाव बनाकर आंदोलन को कमजोर करने एवं धरना प्रदर्शन में शामिल होने से रोकने की कोशिश की गयी तो विभाग में सभी स्वास्थ्य सेवाओं को बंद कर जिला प्रशासन के विरूद्ध क्रमिक अनशन करेंगे. जिला संरक्षक सुशील त्रिपाठी ने कहा कि किसी को घबड़ाने या धमकियों में संगठन के सदस्यों को आने की जरूरत नहीं है. ऐसी शक्तियों से संगठन निबटना जानता हैं. प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह ने कहा कि जनपद का प्रत्येक अध्यापक आपके साथ है. यदि आवश्यकता पड़ी तो जनपद के स्कूलों को बंद कराया जायेगा. सभा में यह तय किया गया कि जनपद में टीकाकरण बाधित किया जायेगा.
सभा को सम्बोधित करने वालों में मीरा सिंह, उर्मिला तिवारी, लीलावती सिंह, कमल कुमारी, माधुरी ओझा, मीना सिंह, रिंकू सिंह, मिथिलेश शर्मा, सुमित्रा देवी, पूनम राय, कुसुम देवी, नीतू सिंह, सुमन राय, पुष्पा देवी, उर्मिला देवी, साधना सिंह, सुदेश्वर अनाम, राजेश रावत, शबनम परवीन, रणधीर सिंह, कृष्ण कुमार शर्मा, लालसा यादव, आशा सिंह, सरिता सिंह आदि मौजूद रहे. अध्यक्षता सत्या सिंह व संचालन सुशील त्रिपाठी ने किया.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!