सारनाथ एक्सप्रेस में लूट कांड का खुलासा, लुटेरा गिरोह के पांच गिरफ्तार

सारनाथ एक्सप्रेस में  लूट कांड का खुलासा, लुटेरा गिरोह के पांच गिरफ्तार

GRP टीम को 50 हजार व RPF टीम को 15 हजार रूपए पुरस्कार की घोषणा

बलिया। बीते 29 दिसम्बर को डाउन सारनाथ एक्सप्रेस में यात्रियों के साथ हुई लूटपाट की घटना का शनिवार को जीआरपी पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस घटना में शामिल गिरोह के पांच सदस्यों को एसपी रेलवे (गोरखपुर) की अगुवाई में गठित जीआरपी टीम ने गिरफ्तार कर लिया. इन बदमाशों के पास से हथियार व लूट के सामान बरामद किए गए हैं.

बदमाशों ने डाउन सारनाथ एक्सप्रेस को रेवती रेलवे स्टेशन के आउटर पर रोककर यात्रियों के साथ लूटपाट की थी. चार यात्रियों की विरोध करने पर जमकर पिटाई भी की थी. मामले के खुलासे के लिए एसपी रेलवे पुष्पांजलि ने डेरा डाल रखा था.

इसी बीच जीआरपी को मुखबीर से सूचना मिली कि रेवती स्टेशन के आउटर सिग्नल पर घटना को अंजाम देने वाले हथियारबंद बदमाश अनिल साहनी निवासी रेवती व सोनू उर्फ अरुण यादव निवासी सागरपाली रेवती कस्बे में किसी काम से आए हैं. टीम ने तत्परता दिखाते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की तलाशी में इन बदमाशों के पास से लूट की मोबाइल व रुपये बरामद हुए. पूछताछ में इन सब ने घटना में शामिल होने की बात स्वीकार की. अनिल साहनी की निशानदेही पर जीआरपी की टीम ने पचरुखिया रोड स्थित वशिष्ठ सिह के तालाब के पास से आशुतोष तिवारी निवासी देवपुर मठिया, दीपक चौरसिया निवासी रेवती व शिवम चौधरी निवासी रेवती को गिरफ्तार कर लिया.

सारनाथ एक्सप्रेस में लूट को अंजाम देने वाले गिरोह के पकड़े जाने के बाद जीआरपी ने उनके पास के लूट के लगभग सभी सामानों को भी बरामद कर लिया. बरामद सामानों में सोने के आभूषण जिसमें चैन व ब्रेसलेट शामिल है. इसके अलावा 11 हजार रुपये नकद, दो एटीएम कार्ड, क्रेडिट कार्ड, पैन कार्ड के अलावा 5 मोबाइल शामिल हैं. बच्चों के कपड़ों से भरा एक बैग भी पुलिस के हत्थे लगा है. इसमें कपड़ों के अलावा शैक्षिक प्रमाण पत्र नगदी भी मिला है.

पुलिस लाइन के सभागार में घटना का खुलासा करते हुए एसपी रेलवे पुप्पांजलि ने बताया कि इस मामले में दो वांछित अभियुक्त अभी भी फरार हैं. इनकी तलाश सरगर्मी से की जा रही है. जल्द ही दोनों पुलिस के कब्जे में होंगे. इस टीम में जीआरपी गोरखपुर प्रभारी निरीक्षक अजीत कुमार सिह, बलिया के प्रभारी निरीक्षक रामकृष्ण मिश्र, राणा राजेश सिह, राघवेन्द्र कुमार मिश्र, मारकण्डेय यादव, बृजेश कुमार मौर्या, उपेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, सुभाष चन्द्र, शिवचन्द्र यादव, अमित कुमार, सुभाष यादव आदि शामिल थे. लूटकांड का खुलासा करने वाली टीम को 50 हजार रुपये का इनाम दिया गया है. एसपी रेलवे ने बताया कि आईजी जोन द्वारा घटना का पर्दाफाश करने वाली टीम को 50 हजार रुपये के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा.

सारनाथ घटना के खुलासे में मुख्य भूमिका निभाने वाले आरपीएफ प्रभारी अमित कुमार राय व पूरी टीम को प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त राजाराम व मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि पाण्डेय ने 15 हजार रुपये नगद राशि देकर पुरस्कृत करने की घोषणा की है.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!