जेपी के गांव की प्रधान ने रखा शिक्षा राज्यमंत्री के सामने बालिका शिक्षा का सच

जेपी के गांव की प्रधान ने रखा शिक्षा राज्यमंत्री के सामने बालिका शिक्षा का सच

बैरिया(बलिया)। जेपी की जमीं पर बालिकाओं की उच्च शिक्षा के लिए जिन सपनों को लेकर जेपी की धर्मपत्नी प्रभावती देवी के नाम पर वर्ष 1989 में स्थापित जीजीआईसी की स्थापना की गई, वह सपना हमेशा आधे अधूरे हाल में ही रह रह गया. प्रभावती देवी स्मारक राजकीय बालिका इंटर कालेज के नाम से इस विद्यालय को वैसे तो तमाम मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हैं. किंतु पठन-पाठन का ही बेहतर इंतजाम शासन की ओर से आज तक नहीं किया जा सका. इंटर तक साइंस से मान्यता प्राप्त इस विद्यालय में खुद का जरनेटर, पंखा, 15 शौचालय, 13 कक्ष एक प्रयोगशाला कक्ष, दो मंजिला इमारत एवं दो अतिरिक्त कक्ष तक मुहैया कराया गया है.

लेकिन पर्याप्त विषय शिक्षिकाओं की तैनाती नहीं होने से यहां का पठन-पाठन लंबे समय से बाधित चल रहा है. यहां प्रभारी प्रधनाचार्या के तौर पर मात्र एक शिक्षिका तैनात है जिन पर कुल सात सौ छात्राओं की जिम्मेदारी है. इन तमाम बिंदुओं को दर्शाते हुए ग्राम पंचायत कोड़हरा नौबरार जयप्रकाशनगर की प्रधान रूबी सिंह ने शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह को एक पत्र लिख कर यहां पर्याप्त शिक्षिकाओं की तैनाती की मांग की है. उन्होंने बताया कि विद्यालय में किसी भी प्रवक्ता की तैनाती नहीं है. इस वजह से इंटर में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान, नागरिक शास्त्र, संस्कृत, अंग्रेजी, आदि विषयों की पढ़ाई प्रवक्ताओं की तैनाती नहीं होने के कारण नहीं हो पाती. उन्होंने मांग किया है कि बालिकाओं की शिक्षा को ध्यान में रखते हुए यहां तत्काल शिक्षिकाओं की तैनाती की जाए.

पत्र को गंभीरता से लेते जिस पर जिला विद्यालय निरीक्षक बलिया को निर्देशित किया है कि वे तत्काल विद्यालय में किसी भी माध्यम से पर्याप्त शिक्षिकाओं की तैनाती करें.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!