बलिया से चुराई गई अष्टधातु की मूर्तियां बिहार के गोपालगंज में बरामद, हत्थे चढ़ा आरोपी साधु

बलिया से चुराई गई अष्टधातु की मूर्तियां बिहार के गोपालगंज में बरामद, हत्थे चढ़ा आरोपी साधु

गोपालगंज (बिहार)। बैकुठंपुर थाना क्षेत्र के बनौरा गांव स्थित राम जानकी मंदिर से चुराई गई अष्टधातु की तीन मूर्तियों के साथ ही पुलिस ने उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से चुराई गई सात मूर्ति को भी बरामद किया था. बनौरा रामजानकी मंदिर में मूर्ति चोरी होने के बाद पुलिस ने उत्तर प्रदेश पुलिस के सहयोग से मूर्ति चोर गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए एक साधु को गिरफ्तार कर चोरी गई मूर्तियों को बरामद किया. गिरफ्तार साधु से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे शनिवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया.

शनिवार को अपने कार्यालय कक्ष में प्रेस को संबोधित करते हुए एसडीपीओ विनय तिवारी ने बताया कि बनौरा में भगवान राम, सीता तथा लक्ष्मण की मूर्ति चोरी होने के बाद पुलिस सक्रिय हो गई थी. मंदिर में ठहरे साधु द्वारा मूर्तियों की चोरी करने की बात सामने अपने पर आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए विभिन्न ठिकानों पर पुलिस ने छापेमारी किया. इसी दौरान महम्मदपुर थाना क्षेत्र के अमरपुरा गांव में छापेमारी कर साधु गोगल महतो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और उसके घर से रामजानकी मंदिर से चुराई गई तीन मूर्तियों के साथ ही अष्टधातु की दस मूर्ति बरामद की. एसडीपीओ ने बताया कि सात अन्य मूर्तियों बरामद होने के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के एसपी से संपर्क किया गया. साथ ही इस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश की जा रही है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किया गया साधु मूर्ति की चोरी करने के बाद उसे बेच देता था. मूर्ति खरीदने वाले लोगों की भी तलाश की जा रही है. जल्द ही इस गिरोह के सभी सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

एसडीपीओ विनय तिवारी ने बताया कि साधु गोगल महतो 8 साल पूर्व भी मूर्ति चोरी करने के मामले में जेल जा चुका है. जेल से छूटने के बाद उसने यूपी को अपना ठिकाना बना लिया था. यूपी में रह कर पूजा पाठ करने के साथ साथ जब भी वह अपने गांव आता था तो मंदिरों से अष्टधातु की मूर्तियां चुरा कर लाता था. उन्होंने कहा कि जरूरत पर पड़ने पर जेल भेजे गए साधु को रिमांड पर भी लिया जाएगा.

Statue of Ashtadhathu stolen from Ballia (UP), recovered from Gopalganj in Bihar. Accused arrested

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!