नवांकुर चित्रकारों के तूलिका के जादू को देखने उमड़ी भीड़

नवांकुर चित्रकारों के तूलिका के जादू को देखने उमड़ी भीड़

बलिया। राजकीय बालिका इण्टर कालेज के सभागार में राज्य ललित कला अकादमी उप्र लखनऊ के तत्वावधान में चल रहे तीन दिवसीय प्रदर्शनी के दूसरे दिन बुधवार को कलाकृतियों को देखने के लिए कला प्रेमियों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी.

एक ओर जहां कलाप्रेमी चित्रों को देखकर बच्चो के हुनर की तारीफ किए वही अभिभावक अपने लाडलो के हाथों बनाई गई पेंटिंग देखकर इतराए. कला शिक्षक एवं कार्यक्रम के संयोजक डॉ इफ्तेखार ख़ां ने बताया कि अकादमी के निर्देशानुसार तीस दिवसीय प्रशिक्षण के पश्चात प्रशिक्षुओं के हाथों बनाई गई लगभग दो हजार कलाकृतियों में पांच सौ पेंटिंग कलाकृतियों को प्रदर्शनी में प्रदर्शित किया गया है. डॉ खां ने बताया कि इन छात्र-छात्राओं को प्रशिक्षित करने में सेंट जेवियर्स स्कूल धरहरा के कला शिक्षक नौशाद अहमद अंसारी एमएफए एवं सनबीम पब्लिक स्कूल अगरसंडा के कला शिक्षक नुरुल हक ने कोई कोर कसर नही छोड़ा है. कला की तकनीक में बच्चो ने आयल कलर जहाँ नुरुल हक से तो वाटर कलर नौशाद अहमद अंसारी से सीखा है.

ग्रीष्मकालीन चित्रकला कार्यशाला में प्रशिक्षण लेने में शहरी बच्चो से कही कम ग्रामीण क्षेत्रो के बच्चे नही रहे. डॉ खां ने बताया कि इस प्रशिक्षण में काफी दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रो के बच्चों ने भाग लिया. जनपद के नगरा, बेल्थरारोड, रसड़ा, बैरिया, सहतवार, बांसडीह, मनियर, सिकंदरपुर आदि ग्रामीण क्षेत्रो के नवांकुर चित्रकारों ने प्रशिक्षण लेकर अपनी तूलिका का जादू इस प्रदर्शनी में बिखेर रहे है. बताया कि गुरुवार को प्रदर्शनी दोपहर 12 बजे से सायं 6 बजे तक खुली रहेगी.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!