बैरिया के एसएचओ को हटाने की मांग को लेकर दूसरे दिन भी क्रमिक अनशन

बुधवार को आंदोलन आमरण अनशन में तब्दील करने की तैयारी, अनशनकारी छात्र नेताओं ने कहा – जरूरत पड़ा तो 1942 के इतिहास को दोहराएंगे

बैरिया (बलिया) से वीरेंद्र नाथ मिश्र

एसएचओ बैरिया संजय त्रिपाठी के स्थानांतरण सहित सात सूत्री मांगों को लेकर मंगलवार को दूसरे दिन भी छात्र नेताओं का क्रमिक अनशन शहीद स्मारक बैरिया पर भारी बरसात की बावजूद जारी रहा. वहीं दूसरी तरफ पुलिस महकमा के साथ इस बाबत कोई सार्थक बातचीत नहीं हो पाई है. छात्र नेताओं ने बुधवार (आज) से बेमियादी अनशन की घोषणा कर दी है.

छात्र नेताओं का कहना है कि अनशन तभी समाप्त होगा, जब उन लोगों की बातें मानी जाएगी या उन लोगों की लाश ही अनशन स्थल से उठेगी. छात्र नेताओं का कहना है कि 1942 में इसी बैरिया थाने को अंग्रेजों से आजाद कराने के लिए द्वाबा के कई सपूत शहीद हो गए थे. आज अंग्रेजों के जमाने से भी अधिक क्रूर हो गई है बैरिया की पुलिस. इसलिए दूसरी आजादी के लिए उन्हीं शहीदों के स्मारक पर लोग अनशन करने बैठे हैं.

मनोज सिंह ने अनशनकारी छत्र नेताओं को दिया समर्थन

इसी क्रम में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनोज सिंह ने बैरिया एसएचओ को हटाने के लिए छात्रों के अनशन/आंदोलन को अपना समर्थन दिया. कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर आंदोलनकारियों को समर्थन दूंगा. हर सम्भव सहयोग करुंगा. मंगलवार को मनोज सिंह शहीद स्मारक पर पहुंचकर अनशन पर बैठे छात्र नेताओं से बातचीत किए. और उनका हौसला आफजाई किए.

मनोज सिंह ने कहा सत्ताधारी पार्टी के विधायक खुद इब्राहिमाबाद में पालीटेक्निक कालेज का शिलान्यास सहित कई कार्यक्रम कर चुके हैं. जिसमें हजारों की भीड़ जुटी और उसमें सोशल डिस्टैंसिंग का ख्याल भी नहीं रखा गया, जब उनके लिए कोई प्रतिबंध नहीं है तो छात्रों के लिए प्रतिबंध क्यों है.

सिपाही ने छात्र नेताओं को दिया धमकी

सुरेमनपुर चौकी पर तैनात सिपाही अमर बहादुर यादव द्वारा सुदिष्ट बाबा स्नाकोत्तर महाविद्यालय के छात्र संघ के महामंत्री रंजन गुप्त और उपाध्यक्ष राजकुमार यादव को अनशन पर बैठने का गम्भीर परिणाम भुगतने को धमकी देने का आरोप इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है. वही अनशन युवा इस धमकी के बाद और आक्रोशित हो गए है. छात्र नेताओं ने बताया कि सुरेमनपुर चौकी पर तैनात सिपाही अमर बहादुर यादव ने फोन करके धमकाया है. कहा है कि अनशन पर तुम लोग बैठोगे तो दुरुस्त हो जाओगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.