पांचवे दिन सुखपुरा चट्टी पर स्टूडियो में हुई चोरी का खुलासा, पांच गिरफ्तार

पुलिस ने चोरी गए सामानों को भी बरामद कर लिया है

सुखपुरा (बलिया) से पंकज सिंह जुगनू

सुखपुरा चट्टी पर 18 सितंबर को माया स्टूडियो का ताला तोड़कर लाखों रुपयों के कीमती कैमरों एवं अन्य सामानों की चोरी का खुलासा स्वाट टीम व सुखपुरा पुलिस ने संयुक्त प्रयास से घटना के पांचवे दिन कर दिया. चोरी में शामिल 5 आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं. पुलिस ने चोरी गए सामानों को भी बरामद कर लिया है.

पुलिस की माने तो मंगलवार की सुबह मुखबिर ने सूचना दिया कि सुखपुरा चोरी कांड में शामिल चोर दो बाइकों से सुखपुरा चट्टी के राकेश राम की दुकान से चोरी का सामान लेकर कहीं बेचने के लिए बेरूआरबारी की तरफ जा रहे हैं. सूचना मिलने के समय थानाध्यक्ष सुखपुरा एवं स्वाट प्रभारी अपने सहयोगियों के साथ बेरूआरबारी बीआरसी पर 20 सितम्बर की रात हुई चोरी के खुलासे की आपस में चर्चा कर रहे थे, तभी उन्हें मुखबिर से सूचना मिली.

सूचना पर थानाध्यक्ष एवं स्वाट प्रभारी अपने सहयोगियों के साथ तुरंत सुखपुरा की तरफ चल दिए. मिड्ढा तिराहे पर दो बाइकें आती हुई दिखाई दी. उन्हें रोकने का इशारा किया गया, लेकिन वह पीछे मुड़ कर पुनः सुखपुरा की तरफ भागने का प्रयास करने लगे. हालांकि तब तक पुलिस ने बाइक सवारों को दबोच लिया.

एक बाइक पर दो और एक बाइक पर तीन लोग बैठे थे. पकड़े गए चोरों में राकेश कुमार पुत्र दूधनाथ निवासी सिवान कला थाना सिकंदरपुर, कृष्णा राजभर पुत्र मुन्ना राजभर निवासी भलुही थाना सुखपुरा, रमेश राम पुत्र सुभाष राम निवासी सिवान कला थाना सिक॔दरपुर, गोरख तुरहा पुत्र टहलू निवासी डोमन पूरा थाना सिकंदरपुर, अवधेश चौरसिया पुत्र हरेंद्र चौरसिया निवासी डोमनपुरा थाना सिकंदरपुर शामिल हैं.

पुलिस द्वारा तलाशी लेने पर आरोपियों के पास से तीन कैमरे, दो पीस फ्लैश ट्रीगर, चार पेन ड्राइव, एक पीस यूएसबी केबल, एक रसीद बुक, दो आधार कार्ड, 3550 रुपये नगद, एक पीस कंप्यूटर मॉनिटर, एक पीस कीपैड, एक पीस माउस, दो मोटरसाइकिलें, एक रामा, एक मास्टर की बरामद किया गया. पकड़े गए चोरों ने बेरूआरबारी बीआरसी एवं गड़वार थाना के बलेसरा चट्टी पर 28 जुलाई को 9 दुकानों का ताला तोड़कर चोरी करने में शामिल होना स्वीकार किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.