मामूली बात पर गुत्थमगुत्था हुए दो सगे भाई, एक की हालत गंभीर

अचानक नीलगाय सामने आऩे से असंतुलित हुए बाइक सवार, दो घायल, राजपूत नेवरी में युवक ने की खुदकुशी

सिकन्दरपुर से संतोष शर्मा

जलालीपुर नई बस्ती में रविवार को मामूली बात को लेकर दो भाई आपस में भिड़ गए. इस वारदात में दोनों भाई घायल हो गए. घायलों में एक का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है.

जलालीपुर नई बस्ती में रविवार की सुबह टुल्लू से पानी लेने को लेकर कमलेश शर्मा (35 वर्ष) और संतोष शर्मा (32 वर्ष )पुत्रगण श्रीकांत शर्मा आपस में भिड़ गए. देखते ही देखते दोनों में जमकर मारपीट होने लगी, जिस में दोनों की पत्नियां भी शामिल हो गईं. मारपीट तथा शोरगुल सुनकर आसपास के लोग मौके पर जुट गए. किसी तरीके से लोग दोनों को अलग करने का प्रयास करने लगे. हालांकि दोनों किसी की बात मानने को तैयार नहीं थे. मारपीट में कमलेश को गम्भीर चोट आ गई. उसी दौरान किसी ने पुलिस को टेलीफोन से सूचना दे दिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरीके से दोनों को शांत करवा कर इलाज के लिए उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य सिकंदरपुर पहुंचाई. वहां प्राथमिक उपचार के बाद कमलेश की गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टर ने उसे सदर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया.

अचानक नीलगाय सामने आऩे से असंतुलित हुए बाइक सवार, दो घायल

रविवार की सुबह बाइक के नीलगाय से टकरा जाने के कारण दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. रेवती-बैरिया मार्ग पर चकिया गांव के सामने यह हादसा हुआ. स्थानीय लोगों ने दोनों घायलों को सोनबरसा अस्पताल पहुंचाया. वहां प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया. रेवती कस्बा निवासी संतोष कुमार (22) अपने मित्र राधेश्याम (25) के साथ किसी कार्यवश लालगंज बाइक से जा रहे थे. इसी बीच चकिया गांव के सामने सड़क पार करते समय नीलगाय अचानक बाइक के सामने आ गई. इस हादसे में दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

राजपूत नेवरी में युवक ने की खुदकुशी

बलिया सदर कोतवाली क्षेत्र के राजपूत नेवरी में रविवार की शाम संदिग्ध परिस्थितियों में युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया. हल्दी थाना क्षेत्र निवासी रणविजय प्रताप सिंह (28) राजपूत नेवरी में रहते थे. शाम को कमरा अंदर से बंद होने पर पड़ोसियों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ अंदर पहुंची तो अंदर का नजारा देख होश उड़ गए. रणविजय फंदे पर लटका हुए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.