News Desk June 28, 2020

बलिया। इस साल यूपी बोर्ड हाईस्कूल में श्वेता ने 600 में से 550 अर्थात 91.67 प्रतिशत अंक पाकर जिले में टॉप किया, वहीं इंटर में गौरव तिवारी ने 500 में से 438 अर्थात 87.60 फीसद अंक हासिल कर जिले में प्रथम स्थान हासिल किया.

हाईस्कूल में बलिया जिले के टॉप 10

  • श्वेता 600 में 550 अंक
  • विवेक कुमार मौर्या 548 अंक
  • संजना कुमार 547 अंक
  • मधुबाला वर्मा 546 अंक
  • आयुष कुमार चतुर्वेदी 544 अंक
  • प्रेम प्रकाश राजभर 542 अंक
  • विश्वजीत यादव 539 अंक
  • मेराज अंसारी व सुनीता राय 537 अंक
  • धनंजय कुमार यादव, जाहिद आलम व पूजा यादव को 536 अंक
  • करन कुमार गुप्ता, ओमकार गुप्ता, पूजा यादव व आकाश चौहान 536 अंक

इंटरमीडिएट के बलिया जिले के टॉप 10

  • गौरव तिवारी 500 में से 438 अंक
  • पूनम 432 अंक
  • अंकिता 430 अंक
  • राकेश कुमार 429 अंक
  • कृष्णानंद पटेल 426 अंक
  • समीक्षा सिंह, प्रीति सिंह व गुडि़या को 425 अंक
  • कृति सिंह को 422 अंक
  • अंकुश कुमार गुप्ता, सचिन यादव व पिंकी प्रजापति 419 अंक
  • शिवपाल सिंह यादव, रंजना यादव व अन्नू पांडेय 416 अंक
  • नीलाक्षा सोनी व कृतिका यादव 415 अंक

माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा घोषित हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षा परिणाम में जनपद का प्रदर्शन पिछले साल की अपेक्षा बेहतर है. परीक्षा में सख्ती के बावजूद हाईस्कूल में 75.79 फीसद और इंटरमीडिएट में 57.57 फीसद छात्र-छात्राएं उत्तीर्ण हुए हैं. इस बार हाईस्कूल में 81,944 परीक्षार्थी पंजीकृत थे. इनमें से 70,863 परीक्षार्थी परीक्षा दिए. उत्तीर्ण होने वाले हाईस्कूल में परीक्षार्थी 53,623 हैं. इसी तरह इंटरमीडिएट में पंजीकृत छात्र 77,378 थे. इनमें से 76899 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए. उनमें से 44,267 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं. बोर्ड परीक्षा के लिए इस बार जनपद में 213 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे.

हाई स्कूल में अमरनाथ मिश्र, तो इंटर में मोहम्मद शाहिद रहे स्कूल टॉपर

बलिया सिटी के चंद्रशेखर नगर स्थित शक्ति स्थल स्कूल पर विद्यालय के प्रबंधक दुर्गादत्त त्रिपाठी ने बताया कि इस वर्ष का हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट का परीक्षा फल शत प्रतिशत रहा. हाई स्कूल में 84% पाकर अमरनाथ मिश्र अव्वल रहे. इसी क्रम में इंटरमीडिएट में 82% पाकर मोहम्मद शाहिद ने स्कूल में टॉप किया.

उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को विद्यालय के प्रबंधक दुर्गा दत्त त्रिपाठी ने मिठाई खिलाकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की एवं बधाई दिया.

विद्यालय प्रबंधक ने बताया कि इस वर्ष का परीक्षा फल भी अन्य वर्षो की तरह शानदार रहा. यह अध्यापकों एवं विद्यार्थियों के कठिन परिश्रम का फल है. उक्त अवसर पर शिक्षिका अंबिका त्रिपाठी ने कहा कि हम अध्यापकों एवं छात्रों के वर्ष भर के परिश्रम का परिणाम परीक्षा फल के रूप में बहुत ही श्रेष्ठ रहा. भविष्य में हम लोग और बेहतर परिणाम के लिए प्रयासरत रहेंगे. उन्होंने उत्तीर्ण परीक्षार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें बधाई दी.

उक्त अवसर पर अंग्रेजी के अध्यापक साकेत त्रिपाठी ने समस्त विद्यार्थियों को उनके अच्छे परिणाम लाने के लिए बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. उक्त अवसर पर छात्र छात्राओं ने भी गुरुजनों का पैर छूकर अपने बेहतर परीक्षा फल परिणाम के लिए आभार जताया.

134 स्कूल ऐसे जहां एक भी परीक्षार्थी नहीं हुआ पास

यूपी मे हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में 134 स्कूल ऐसे हैं, जिनके यहां एक भी विद्यार्थी उत्तीर्ण नहीं हुआ है. इन सभी स्कूलों का रिजल्ट शून्य है. इसमें 10वीं के 87 स्कूल और 12वीं के 47 स्कूल शामिल हैं. वहीं 250 स्कूलों में 20 प्रतिशत से कम छात्र पास हुए हैं. इसमें ज्यादातर निजी कालेज ही हैं. गाजीपुर के ही रामायण सिंह यादव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के 14 विद्यार्थी हाईस्कूल परीक्षा में पंजीकृत थे. 13 विद्यार्थियों ने इम्तिहान दिया और सभी फेल हो गए. गाजीपुर के 14 स्कूलों में रिजल्ट जीरो रहा. वहीं, मऊ व प्रयागराज के आठ-आठ, बलिया व कौशांबी के छह-छह स्कूलों में रिजल्ट जीरो रहा. इसमें लखनऊ का भी एक स्कूल ऐसा रहा, जहां हाईस्कूल की परीक्षा में पांच छात्राएं शामिल हुई और शून्य परिणाम गया. यह शांति शिक्षा मंदिर गल्र्स हाईस्कूल है.

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.