झलन की कोशिश बेकार कर पुलिस ने लिया हिरासत में

NH 31 की मरम्मत नहीं होने से क्षुब्ध दुर्गविजय सिंह झलन द्वारा शुक्रवार को जिन्न बाबा के स्थान के निकट NH 31 पर आत्मदाह के प्रयास के पुलिस ने नाकाम कर दिया.

 

बैरिया : NH 31 की मरम्मत नहीं होने से क्षुब्ध दुर्गविजय सिंह झलन के शुक्रवार को जिन्न बाबा के स्थान के निकट NH 31 पर आत्मदाह के प्रयास को पुलिस ने नाकाम कर दिया. दोपहर बाद लगभग तीन बजे जैसे ही झलन ने मिट्टी तेल डालकरआगे बढ़ा, तभी पुलिस टीम ने उन्हें दूर धकेल दिया. इसके बाद हिरासत में ले लिया.

 

इसके बाद समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनोज सिंह ने खुद पर पेट्रोल डाल लिया तो उन्हें भी पुलिस ने कब्जे में लिया. उक्त स्थल से झलन, मनोज सिंह, दुर्गेश सिंह और सुशील सिंह को पुलिस थाने ले आई. पुलिस टीम में बैरिया के एसएचओ संजय त्रिपाठी, दोकटी के एसओ अखिलेश मौर्य, चौकी प्रभारी चांद दियर रवींद्र राय, उपनिरीक्षक शिवकुमार यादव और कांस्टेबल शामिल थे.

थाने में आंदोलकारियों और प्रशासन के बीच वार्ता हुई.  दोनों पक्षों के बीच हुई वार्ता में तय हुआ कि एसडीएम के साथ पांच लोग जिलाधिकारी से मिलेंगे.

 

 

इस क्रम में सुबह से ही समाचार लिखे जाने तक NH 31 पर चक्का जाम है. इससे सैकड़ों वाहनों की कतार पूरब और पश्चिम की ओर लगी हुई है. इनमें बारात और अन्य वाहन शामिल हैं. समाचार लिखे जाने तक पुलिस जाम हटाने में सफल नहीं हो पाई थी. जिन्न बाबा के स्थान के पास NH 31 पर सैकड़ों लोगों ने जाम लगा रखा है. इससे यातायात बाधित है.

 

SDM के खिलाफ जमकर लगाये नारे
इस प्रकरण में दिन भर शह-मात का खेल चलता रहा. इस बीच मौके पर बैरिया एसडीएम अशोक चौधरी पहुंच गए. भीड़ में शामिल लोगों ने उनके विरुद्ध नारे लगाते हुए उनकी तरफ दौड़ पड़े. पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद SDM को भीड़ से निकाला.

 

गौरतलब है कि SDM ने एक पखवारा पूर्व यह लिखित आश्वासन दिया था कि पांच दिसंबर तक NH 31 का मरम्मत कराकर बैरिया से मांझी घाट तक गड्ढामुक्त कर दिया जाएगा. वहीं 10 दिसंबर को जयप्रभा सेतु की मरम्मत करा दी जायेगी.

मरम्मत का कार्य चार किमी होने के बाद बंद हो गया. विभागीय अधिकारियों ने कहा कि जो बजट एलाट हुआ था, वह खत्म हो गया. जयप्रभा सेतु का मरम्मत कार्य ही शुरू नहीं हुआ. इस बात को लेकर लोग SDM से काफी नाराज थे.

सांसद-विधायक पर लगाए उपेक्षा के आरोप
इस दौरान सपा नेता मनोज सिंह सहित कई नेताओं ने सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त और विधायक सुरेंद्र सिंह पर गंभीर आरोप लगाए. दोनों को जनहित के कार्यों के प्रति लापरवाह बताया. लोगों ने दोनों पर जनता की उपेक्षा करने का आरोप लगाया.

 

इंटक के जिलाध्यक्ष विनोद सिंह ने कहा अगर NHAI के अधिकारी शीघ्र मरम्मत नहीं कराते हैं तो जनता को इन नेताओं के भरोसे मरने नहीं दिया जाएगा. हाईकोर्ट में NHAI के खिलाफ जनहित याचिका दाखिल किया जायेगा. कार्यक्रम को प्रधान संजय सिंह, पूर्व प्रधान उपेंद्र सिंह, दुर्गेश सिंह, शैलेश सिंह, नितेश सिंह, अरविंद सिंह, गुड्डू सिंह, छोटे बाबा, लवलेश यादव, माधवेंद्र सिंह, बब्लू सिंह आदि ने भी संबोधित किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.