News Desk October 28, 2019

जौनपुर। मिस कॉल से इश्क का गहरा नाता तो आम तौर पर मौजूदा दौर के गीतों में सुना जाता है. मगर अब रांग नंबर से भी दो दिल मिल रहे हैं. वह भी चुपके चुपके नहीं, विधिवत ब्याह रचा लिए. मगर मामला हाथापाई तक पहुंच गया. अब तो नौबत थाना पुलिस की आ गई है.

मगर कहते हैं न इश्क और मुश्क छुपाए नहीं छुपते. किस्सा कुछ यूं है कि रांग नंबर पर मिस्ड काल से युवक और युवती के बीच बातचीत का सिलसिला प्यार में बदल गया. युवती बलिया की रहने वाली है. मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक लड़की ने खुद को बांसडीह का निवासी बताया है और युवक रितेश सरोज जौनपुर के बेला गांव का रहने वाला है. दोनों के बीच इश्क परवान चढ़ने लगा. मगर रोड़ा परिजन बन गए. लाख मशक्कत के बाद भी घरवाले मानने को तैयार नहीं.

इसी बीच रितेश के चाचा अरुण कुमार सरोज को भतीजे की प्रेम कहानी की जानकारी मिली तो उन्होंने दोनों का साथ देने का फैसला किया. जौनपुर के जलालपुर थाना क्षेत्र के सैदपुर गांव स्थित अपनी फर्नीचर की दुकान पर अरुण ने दोनों को बुलवाया.

दोनों ने बीते शुक्रवार को वहीं जोगीबीर मंदिर में शादी कर ली. चाचा का आशीर्वाद भी मिल गया. इसके बाद युवक पत्नी के साथ अपने चाचा की फर्नीचर की दुकान में ही रहने लगा. इसकी भनक रविवार को युवक के परिजनों को लगी. युवक की मां गांव के कुछ परिचितों को लेकर देवर की दुकान पर धावा बोल दी.

देवर अरुण कुमार सरोज को शादी के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए भाभी ने जमकर पिटाई कर दी. बताया जा रहा है कि उसका सर फट गया है. युवक की मां के साथ गए लोगों ने भी उस पर हाथ साफ किया. अरुण के शोर मचाने पर आसपास के लोग भी वहां पहुंच गए. अब मामला दोतरफा हो गया. दोनों तरफ से जोर आजमाइश होने लगी. इसी बीच मामला तूल पकड़ता देख किसी ने पुलिस को फोन कर दिया. सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने कुछ आरोपियों को हिरासत में ले लिया. हालांकि उनमें से कई मौका ताड़ खिसक लिए. (तस्वीर – प्रतीकात्मक)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.