News Desk September 4, 2019

बैरिया तहसील पर कटान पीड़ितों का धरना प्रदर्शन दूसरे दिन भी
फटकार के बाद बाढ़ खंड के अधिकारी बगले झांकते नजर आए

बलिया। जिलाधिकारी भवानी सिंह खगारौत के साथ एसपी देवेन्द्र नाथ ने बुधवार को दूबेछपरा रिंग बंधे पर हो रहे कटान का औचक निरीक्षण किया. इस दौरान अधिकारी ने मौके पर बचाव कार्य करा रहे मातहतों की जमकर क्लास ली. उधर, गंगा व घाघरा नदी के कटान पीड़ितों की विभिन्न समस्याओं को लेकर आंदोलन और तेज होने के आसार हैं. कांग्रेस कार्यकर्ताओं व कटान पीड़ितों का बैरिया तहसील पर धरना प्रदर्शन बुधवार को दूसरे दिन भी जारी रहा.

इसे भी पढ़ें – LIVE VIDEO दुबेछपरा टेंगरही रिंग बंधा कटान की चपेट में

बंधा टूटा तो अंजाम भुगतने को रहे तैयार – डीेएम

डीएम ने मातहतों को चेताया कि बंधा टूटा तो कार्रवाई तय है. फटकार के बाद बाढ़ खंड के अधिकारी बगले झांकते नजर आए. दूबेछपरा रिंग बंधे पर कटान की सूचना पर पंहुचे डीएम का तेवर काफी तल्ख दिखे. नदी के हल्के थपेड़ों के बाद बंधे का हस्र देख डीएम ने एक्सईएन वीरेन्द्र सिंह की जमकर क्लास ली. कहा कि जो भी करना हो कीजिए, बंधा टूटना नहीं चाहिए. बंधा टूटा तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी. बंधे की सुरक्षा को लेकर अधिकारी ने अधीक्षण अभियंता बाढ़ खंड बीपी सिंह से भी सलाह मशविरा करने के साथ ही आवश्यक दिशा निर्देश दिए.

बचाव कार्य की शिथिलता की शिकायत ग्रामीणों ने डीएम से किया

बताया जाता है कि बंधे पर पिछले एक पखवारे से नदी की लहरें अलग अलग प्वाइंटों पर प्रहार कर रही है. बचाव कार्य की शिथिलता की शिकायत ग्रामीणों ने डीएम से किया. इस पर डीएम ने कार्य मे तेजी लाने का निर्देश दिया. इस दौरान एसडीएम बैरिया दुष्यन्त कुमार, थानाध्यक्ष संजय त्रिपाठी, एसडीओ बाढ़ खंड कमलेश कुमार, अवर अभियन्ता मुन्ना यादव, प्रशांत कुमार गुप्ता, जावेद अहमद आदि थे.

कटान पीड़ितों ने एसडीएम व तहसीलदार के चेंबरों का ताला बंद कर दिया

इसी क्रम में बैरिया में शासन-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई. सुबह ही एसडीएम व तहसीलदार के चेंबरों का ताला कटान पीड़ितों ने बंद कर दिया. खबर लिखे जाने तक तहसीलदार अपने कमरे में थे, जबकि एसडीएम दुबेछपरा कटानस्थल पर थे. विनोद सिंह ने चेताया कि जब तक कटान पीड़ितों की समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता, तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

सत्ता के इशारे पर तहसील प्रशासन नाच रहा – इंटक नेता विनोद सिंह

अपने संबोधन में इंटक नेता विनोद सिंह ने कहा कि कटान पीड़ितों की मांगों को लेकर कई बार आंदोलन हुआ, कितु आज तक तहसील प्रशासन ने कटान पीड़ितों की समस्या का समाधान नहीं किया. विगत एक अगस्त को तहसील पर आंदोलन के दौरान एसडीएम दुष्यंत कुमार मौर्य ने लिखित आश्वासन दिया था कि एक माह के भीतर सारी मांग पूरी कर दी जाएगी, कितु एक माह में कुछ नहीं हुआ. फलस्वरूप आंदोलन का रुख अख्तियार करना पड़ा. सिंह ने आरोप लगाया कि सत्ता के इशारे पर तहसील प्रशासन नाच रहा है और जनता की समस्या पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है.

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.