News Desk August 24, 2019

मुंबई। शॉर्ट फिल्मों के युवा और उदीयमान निर्माता – निर्देशक शादाब सिद्दिकी ने इस साल जश्ने आज़ादी के अवसर पर सामाजिक सौहार्द, धार्मिक समरसता का एक अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया. जहाँ जय श्री राम और अल्लाह ओ अकबर के टकराव की घेराबंदी में लोग भटक रहे हैं, मुस्लिम होकर भी शादाब ने “जय श्री राम” का आह्वान कर सभी धर्म भीरुओं को सकते में ला दिया.

ब्लू आइज फिल्म फैक्टरी द्वारा प्रस्तुत लघु चित्र “जय श्री राम” के निर्माता हैं अर्चना प्रजापति, आसिफ राणा व इसरार मंगलोर तथा निर्देशक शादाब सिद्दिकी तथा लेखक मक़बूल निसार हैं. मुख्य कलाकार हैं — गौरव दीक्षित, इम्तियाज शेख, मनीष झा व जावेद रहमान और कास्टिंग डायरेक्टर नूर सिद्दिकी. शादाब ने सभी भारतीयों को एकता, प्यार मोहब्बत के धागे में बांधने का एक बेहद सराहनीय कार्य किया है.

शादाब ने अपने लघु चित्र (शॉर्ट फिल्म) “जय श्री राम” में सही मायने में धर्मनिरपेक्षता क्या होती है, यह बताने, जताने का एक सार्थक और सराहनीय प्रयास किया है. उसने बताया है, हर हिन्दू को गीता और हर मुस्लिम को कुरान का अनुसरण करना चाहिए. किसी भी धर्म में, धर्मग्रंथ में स्पष्ट रूप में लिखा गया है कि अपने धर्म का पालन करो और दूसरे धर्म / धर्मावलंबियों का सम्मान भी करो.

Jai Shri Ram means “Victory to Lord Rama”, Hindu deity and the seventh Avatar of Lord Vishnu. Religious Hindus consider chanting Jai Shri Ram is a way to get rid of fear, sorrow, stress, anxieties and also chanting gives power and liberation from the cycle of birth and death who chants like genuine crying of a child for mother. Lord Rama has done various roles in Ramayana for human beings as to know how to live and do the Karma without attachment to the world.

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.