ballia live
General Desk June 11, 2019

बांसडीह (बलिया)। तहसील क्षेत्र के केवरा में खुले गेंहू क्रय केंद्र पर किसानों द्वारा लगाए गए नम्बर में घाल मेल किया जा रहा है. किसानों ने आरोप लगाया है कि प्रत्येक बोरी हम लोगो से 100, रुपये की मांग किया जा रहा था. जिसे न देने के चलते क्रय केंद्र खुलने के तीसरे व चौथे पर लगा नम्बर दो महीनों से ऊपर हो गए अभी भी नही आया है. मजबूर किसान कम दाम में ही गेंहू ब्यपारियो को बेच रहे है. इसको लेकर सरकार के प्रति किसानों में दिन प्रति दिन आक्रोश बढ़ता जा रहा है. वहीँ किसानों ने केवरा गेंहू क्रय केन्द्र की जांच की मांग मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ व कृषि मंत्री को शिकायत पत्र भेज कर किया है. किसानों ने पत्र में उल्लेख किया है कि सप्लाई इंस्पेक्टर का प्रतिदिन न आना तथा कुछ लोगो के माध्यम से गेंहू क्रय करना साथ ही प्रत्येक बोरी पर उनके द्वारा रखे गए अधीनस्थों के द्वारा 100 रुपये देने वाले ब्यपारियो का बिना नम्बर उनका गेंहू क्रय किया जा रहा है. केवरा गेंहू क्रय केंद्र की दुर्व्यवस्था को देखते व महीनों से जो किसान क्रय केंद्र का दौड़ लगा रहे है. वे बेवस व मजबूर किसान कम दाम में ही व्यवपरियों को अपना खून पसीना एक कर पैदा किये अनाज को बेच रहे है. सबसे बड़ी बात यह है कि जब किसान क्रय केंद के कर्मचारियों से यह पूछ रहे है कि साहब कब तक हमारा नम्बर आयेगा. तो उन कर्मचारियों का जबाब मिल रहा है कि देखिए कब तक आता है. अगर किसान पूछता है कि साहब कितने नम्बर पर हमारा नाम है तो जबाब मिलता है कि आप कब चाहते आप के ऊपर है. जबकि जिलाधिकारी का साफ निर्देश है कि किसानों का ही गेहूं क्रय किया जाय. लेकिन केवरा गेहूं क्रय केंद्र के अधिकारी जिलाधिकारी के निर्देशों को ताक पर रख कर किसानों से अबैध रूप से वसूली की जा रही है. शिकायत करने वाले किसानों में श्री राम सिंह, शिव बचन सिंह, सत्यप्रकाश,राजेश्वर प्रसाद, मनोहर,सुखदेव प्रसाद आदि है. इस संबंध में उपजिलाधिकारी अन्नपूर्णा गर्ग से पूछने पर की किसानों का गेंहू केवरा क्रय केंद्र पर नही लिया जा रहा है तो उन्होंने कहा कि किसानों की शिकायत है तो जाँच कर सम्बंधित दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!