ballia live
News Desk May 30, 2019

भूमि विवाद में दो पक्षों में मारपीट

आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर किया पथराव

2 दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल

बलिया। उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से पुलिस और ग्रामीणों के बीच जमकर पथराव हुआ. इस दौरान दर्जन भर से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए. इस मामले में कई लोगों को हिरासत में लिया गया है. बलिया जिले के बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के घघरौली गांव में बुधवार को ग्राम समाज की भूमि के विवाद को लेकर 2 पक्षों में मारपीट हो गई. सूचना के बाद बड़ी संख्या में कई थानों की पुलिस पहुंच गई.
मारपीट के आरोपी 2-3 युवकों को पकड़कर पुलिस ले जाने लगी तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया. बेकाबू भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने पहले लाठियां भांजी. लेकिन लोग पीछे नहीं हुए तो 2 राउंड हवाई फायरिंग की गई, जिसके बाद मामला शांत हुआ.
इस दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच 3 घंटे तक घमासान चला. इसमें तहसीलदार समेत 11 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए. बड़ी संख्या में ग्रामीणों को भी चोट आई है. इस मामले में 12 से अधिक लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. वहीं गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल और पीएसी तैनात कर दी गई है. उधर, पुलिस के भय से लोग गांव छोड़कर भाग गए हैं.
बलिया जिले के घघरौली गांव में एक शिव मंदिर है. मंदिर के आसपास ग्राम समाज की जमीन है. ग्राम समाज की जमीन में मत्स्य विभाग की भी कुछ जमीन है. इस पर कब्जे को लेकर दो पक्षों में कहासुनी होने लगी और देखते ही देखते मारपीट में तब्दील हो गई. इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी. सूचना पर पहुंची मुकामी पुलिस ने ग्रामीणों को काफी समझाया लेकिन बात बनने की जगह और बिगड़ गई. कुछ ही देर बाद दोनों ओर से ईंट-पत्थर चलने लगे. इसके बाद भगदड़ मच गई.
इस दौरान सदर तहसीलदार गुलाब चंद्रा, सुखपुरा प्रभारी नागेश उपाध्याय (45), दारोगा सुनील कुमार सिंह (40), सिपाही प्रवीण कुमार (24) सहित दो दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी व दर्जनों ग्रामीण चुटहिल हो गए. गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल व पीएसी तैनात कर दी गई है. वहीं अपर पुलिस अधीक्षक विजय पाल सिंह, एडीएम रामआश्रय, सदर एसडीएम अश्वनी श्रीवास्तव, क्षेत्राधिकारी आदि पहुंच गए और मोर्चा संभाला.

Ghagharauli, Ballia, Uttar Pradesh: In the land dispute, the two sides assaulted, stone pelting

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!