ballia live
General Desk May 19, 2019

प्रशासन पर बीएलओ चिंता देवी, चौकीदार कुंजबिहारी तथा ग्रामीण सुरेश सिंह का जबरियन वोट डलवाने का ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए काटा बवाल

पुलिस के डंडा चलाने पर ग्रामीणों ने पथराव करते हुए पुलिस को दौड़ाया, सरकारी वाहन क्षतिग्रस्त

रेवती(बलिया)। छोटकी बेलहरी गांव में सड़क नहीं तो वोट नहीं की आवाज बुलंद करते हुए मतदान का बहिष्कार कर दिया. उधर मतदान बहिष्कार पर एकल बूथ 450 पर रविवार की शाम को बीएलओ चिंता देवी से जबरन मतदान दिलाने पर ग्रामीण भड़क गए. इस दौरान हुए पथराव में प्रशासन के वाहनों के शीशे भी टूट गए. पुलिस किसी तरह जोनल मजिस्ट्रेट व अन्य मतदानकर्मियों को लेकर वहां से निकले.

गांव के लोग खराब सड़क को लेकर मतदान का बहिष्कार किए थे. दिन में सुबह 10 बजे के बाद एसडीएम बांसडीह अन्नपूर्णा गर्ग ने मतदान के लिए ग्रामीणों को मनाने का हरसंभव प्रयास किया. यहां तक कि डीएम भवानी सिंह खंगारौत ने भी ग्रामीणों से फोन पर बात की, लेकिन ग्रामीण अपने निर्णय पर अडिग थे. दिन भर में इस बूथ पर एक भी मत नहीं पड़ा. शाम पांच बजे के बाद प्रशासन ने बूथ पर तैनात बीएलओ चिता देवी को वोट दिला दिया.

इसकी जानकारी होते ही ग्रामीण आक्रोशित हो गए. प्रशासन पर जबरन मतदान कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिए. इसको लेकर प्रशासन व ग्रामीणों के बीच नोक-झोंक चल रही थी. इतने में सिपाही ने एक ग्रामीण पर डंडा चला दिया. इसके बाद ग्रामीण भी ईंट-पत्थर लेकर पुलिसकर्मियों को दौड़ा लिया. इधर बीएलओ ने जबरन मतदान कराने का आरोप प्रशासन पर लगाया. ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बीएलओ चिंता देवी के अलावा चौकीदार कुंजबिहारी व एक ग्रामवासी सुरेश सिंह कुल तीन लोगों का मतदान प्रशासन ने जबरन करा दिया. ग्रामीणों के आक्रोश को देख सीओ बांसडीह अशोक कुमार सिंह, एसओ सहतवार किसी तरह से पोलिंग पार्टी को लेकर सुरक्षित निकल गए. इस पथराव में प्रशासन की गाड़ी के शीशे भी टूट गए.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!