ballia live
General Desk May 19, 2019

बलिया जिले का फाइनल मतदान रहा 52.7 %

विधानसभावार मतदान प्रतिशत
——————————-
रसड़ा 55 %
बिल्थरा रोड 52 %
सिकंदरपुर 58 %
बांसडीह 52 %

फेफना 52%
बलिया नगर 52 %
बैरिया 48.5 %

बलिया। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का मतदान रविवार को सकुशल संपन्न हो गया. जिले की सभी सात विधानसभाओं में मतदाताओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया. खासकर युवाओं का जोश सर चढ़कर बोला. पहली बार बने नए मतदाता और महिलाओं ने भी मतदान करने में विशेष रुचि दिखाई. वहीं, चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए पर्याप्त मात्रा में फोर्स लगाई गई थी. स्थानीय फोर्स के साथ बाहर से आए केंद्रीय बल के जवान भी पूरी मुस्तैदी से लगे हुए थे. जिले के पुलिस और प्रशासनिक महकमा की तत्परता से चुनाव निष्पक्ष स्वतंत्र और शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया.

डीएम-एसपी दिनभर रहे गतिशील, जिले भर की कुशलता पर रही नजर

लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक लगातार गतिशील रहे. भारी दल-बल के साथ अधिकारी द्वय ने जिले की सभी विधानसभा क्षेत्रों का भ्रमण कर दिया. जिले भर की कुशलता पर जिलाधिकारी की नजर बनी रही. डीएम-एसपी अपने अपने मोबाइल के माध्यम से पूरे जिले की स्थिति पर नजर बनाए रखी.
मतदान शुरू होते ही जिला निर्वाचन अधिकारी अपनी पूरी टीम के साथ निकल गए. सबसे पहले वे सिकंदरपुर क्षेत्र में गए और फिर वहां से मनियर, बांसडीह, सहतवार होते हुए रेवती व बैरिया क्षेत्र के बूथों की स्थिति देखी. वहां से रामगढ़, हल्दी होते हुए विधानसभा नगर के दर्जनभर बूथों का जायजा लिया.

इसके बाद डीएम-एसपी ने फेफना विधानसभा क्षेत्र में कूच किया. चितबड़ागांव में भ्रमण के बाद विस रसड़ा क्षेत्र में पहुँचे. रसड़ा से बिल्थरारोड, सिकन्दरपुर होते हुए फिर बांसडीह पहुँच गए. भ्रमण के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी बूथ के पीठासीन अधिकारी से मतदान की कुशलता की जानकारी लेते रहे. वहीं पुलिस अधीक्षक भी हर बूथ पर तैनात फोर्स से वहां की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे.

क्रिटिकल मतदेय स्थल पर विशेष निगरानी

लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए क्रिटिकल मतदान स्थलों पर विशेष निगरानी रखी गई. इन बूथों पर पहले से ही पैरा मिलिट्री की फौज लगा दी गई थी. कहीं भी किसी प्रकार की गड़बड़ी या जबरदस्ती मतदान की आशंका को पहले ही खत्म कर दिया गया था. निरीक्षण के दौरान भी जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक की नजर इन बूथों पर रही. कुछ बूथों पर अधिकारी द्वय मौके पर पहुंचे तो अन्य बूथों की कुशलता की जानकारी मोबाइल के माध्यम से लेते रहे.

युवाओं के साथ वृद्ध मतदाताओं में भी दिखा उत्साह

लोकसभा चुनाव में वैसे तो हर मतदाता उत्साहित दिखे, लेकिन युवाओं के अलावा वृद्ध मतदाताओं में भी खासा उत्साह दिखा. बहुत सारे ऐसे बहुत देखे गए जहां 80 वर्ष से भी ऊपर के वृद्ध मतदाता विशेष रुचि लेकर मतदान केंद्र पर गए और अपने मताधिकार का प्रयोग किया. कुछ मतदाता तो चलने फिरने में असहज होने के बावजूद भी अपने परिवार के किसी सदस्य के सहयोग से मतदान केंद्र तक पहुंचे. महिलाओं ने भी इस चुनाव में बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी दर्ज कराई.
महिला कर्मियों ने की ड्यूटी, सखी बूथ रहा विशेष

इस लोकसभा चुनाव में सबसे खास बात यह रही कि इस बार हर विधानसभा क्षेत्र में एक-एक सखी बूथ बनाया गया था. इन बूथों पर पीठासीन अधिकारी से लेकर सभी मतदान अधिकारी भी महिलाएं तैनात थी. सखी बूथ पर वोट देने को लेकर महिलाओं में एक अलग उत्साह नजर आया. उधर, इससे इतर कुछ सामान्य मतदेय स्थलों पर भी तैनात महिलाओं ने चुनाव में मिले दायित्वों का निर्वहन बेहतर ढंग से किया.

सुबह से ही दिखी वोट देने की तेजी

वर्तमान में चल रही भीषण गर्मी में अंतिम चरण का चुनाव होना था, इसको लेकर मतदाता भी पहले से सतर्क थे. सुबह 7 बजे जैसे ही मतदान शुरू हुआ मतदाताओं ने भी तेजी दिखानी शुरू कर दी. पहले सुबह ज्यादा फिर नहीं होती थी लेकिन इस बार सुबह से ही मतदाता लाइन में लगे दिखे. कहीं-कहीं तो सुबह में ही जल्दी मतदान करने की तेजी दिखाई दी.

आपकी बात

Comments | Feedback

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!