General Desk March 22, 2019

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही एक बार फिर पुलवामा मुद्दा गरमा गया है. रामगोपाल यादव और सैम पित्रोदा की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए पीएम मोदी ने कहा विपक्ष हमारी सेना को बार-बार अपमानित कर रहा है. मैं देश की जनता से अपील करता हूं कि विपक्ष से सवाल पूछे. उनको बताएं कि 130 करोड़ जनता विपक्ष को उनके बयानों के लिए न माफ करेगी और न ही भूलेगी.

बता दें कि राहुल गांधी के करीबी और इंडियन ओवरसीज में कांग्रेस के प्रभारी सैम पित्रोदा ने पुलवामा हमले के बाद बालाकोट में भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए पूछा कि मैंने जो अखबारों में पढ़ा है उससे ज्यादा जानना चाहता हूं. क्या हमने वाकई 300 आतंकियों को मार गिराया है.
सैम पित्रोदा की एक टिप्पणी पर जवाब देते हुए कहा पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा कि कांग्रेस के शाही वंश के वफादार ने वह स्वीकार किया जो कि राष्ट्र पहले से ही जानता है. कांग्रेस आतंक का जवाब देना नहीं जानती थी. उन्होंने लिखा कि यह न्यू इंडिया है, हम आतंकवादियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देना जानते हैं. जिसे वो समझते हैं और वो भी ब्याज के साथ.

बता दें कि सैम पित्रोदा ने कहा था कि हमलों के बारे में ज्यादा नहीं जानता हूं. यह हमेशा होते रहे हैं. मुंबई में भी हमला हुआ था. हमने उस वक्त प्रतिक्रिया नहीं दी थी, बस अपने जहाज भेज दिए थे लेकिन मुझे लगता है कि यह सही तरीका नहीं है. उन्होंने कहा कि इस तरह आप दुनिया का सामना नहीं कर सकते हैं.
रामगोपाल यादव के बयान की निंदा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष की आदत हो चुकी है, आतंकियों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करना और हमारे सशस्त्र बलों पर सवाल उठाना. रामगोपाल यादव जी जैसे वरिष्ठ नेता का यह बयान उन सभी का अपमान करता है. जिन्होंने कश्मीर की रक्षा करने में अपनी जान की बाजी लगा दी. उन्होंने लिखा कि यह हमारे शहीदों और उनके परिवारों का अपमान करता है.

बता दें कि समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव ने पुलवामा आतंकी हमले को ‘साजिश’ बताया है. उन्होंने कहा कि जब सरकार बदलेगी तो इसकी जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे.

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.