सिकंदरपुर से संतोष शर्मा

SANTOSH SHARMAसिकन्दरपुर क्षेत्र के घाघरा नदी के जलस्तर सात दिनों तक लगातार घटाव पर रहा, लेकिन गुरुवार की रात से ही पुनः तेजी से वृद्धि शुरू हो गई है. इसी के साथ अनेक स्थानों पर कटान से सैकड़ो एकड़ उपजाऊ भूमि काटकर नदी में समाती जा रही है. जिससे क्षेत्र के घाघरा के किनारे बसे डूंहा, बिहरा, कठौडा़, लिलकर, सिसोटार, गोसाईंपुर, आदमपुर, शेखपुर, खरीद, निपनियां आदि दियारों के निवासी नये ठिकानों के तरफ रूख कर रहे हैं. वहीं बढ़ते जलस्तर को रोकने एवं कटान को रोकने के लिए अभी तक प्रशासन द्वारा किसी प्रकार की व्यवस्था न किए जाने से दियरांचल के किसानों में आक्रोश व्याप्त है।
flood-sikandarpur2_700
पिछले 24 घंटे में जहां नदी के जलस्तर में करीब पंद्रह फीट की वृद्धि हुई है, वहीं करीब 80 डिसमिल से अधिक ऊपजाऊ भूमि कटान की भेंट चढ़ चुकी है. इस दौरान नदी के बीच जगह जगह उभरे बालू के टीले पानी में डूब चुके हैं.
flood-sikandarpur3_700
जलस्तर में लगातार वृद्धि जारी रहने से दियारा के किसानों में खलबली मची हुई है. शीघ्र ही उपरी भाग में पानी फैल तबाही मचाने की आशंका से भयभीत दीयारों के किसान ऊंचे भागों पर जाने के लिए स्थान की तलाश करने लगे हैं. दियारे के बसिंदो ने कटान रोधी व्यवस्था कराने की मांग की है.

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.