News Desk October 16, 2016

बलिया। जनपद के तेजतर्रार पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी के स्थानान्तरण के विरोध में छात्रों व व्यापारियों ने छात्रनेता व समाजिक कार्यकर्ता रिपुन्जय रमण पाठक रानू के आह्वान पर उप्र शासन का पूतला फूंक आक्रोश जताया. क्रुद्ध लोगों ने श्री चौधरी को वापस बुलाए जाने तक आन्दोलन जारी रखने का शंखनाद किया.

sp_ballia

रानू पाठक ने कहा कि जनपद के जनप्रतिनिधियों के उदासीन रवैये के कारण जनपद का विकास रूका हुआ था.  प्रभाकर चौधरी ने बलिया में विकास के रथ को आगे बढ़ाया. जब-जब विकास की सम्भावना दिखती है, उसे दुर्भावनाओं की नजर लग जाती है. अच्छे व काबिल व्यक्ति का तबादला यहां से हो जाता है. हम सभी प्रभाकर जी का प्रशासनिक कुशलता को सलाम करते हैं. अधिकारी तो आते-जाते रहेंगे, पर चंद के नाम ही लोगों की जुबां पर कायम रहेंगे. छात्रों ने एक स्वर में उ0प्र0 शासन के रवैये पर खेद जताया. इस मौके पर राहुल पंडित, रामबहादुर यादव, राजू वर्मा, पंकज पाण्डेय, हिमांशु आदि मौजूद रहे.

4 thoughts on “एसपी प्रभाकर चौधरी के तबादले से जनपद में उबाल  

  1. Samajwadi party chahti hi nahi kahi vikash ho.
    Wo to sirf apna vikash karne me lagi hai kaise vi unka vikash ho jaye.

  2. आज तक कोई बड़ीया अधीकारी को रहने नही दिया गया है प्रभाकर चौधरी एक ऐसे अधीकारी थे जो ईन्साफ करते थे ईस जिले के लिए सिंघम का औतार माना गया था लेकीन नही रहने दिया गया समझ मे नही आता सरकार क्या करही है वो भी बेकार साबीत होरही है देखना ये है की हमगरीबो का क्या होता है दूकान के बगल मे जबरदस्ती अतीकरमण किया जाता है बोलने पे जान से मारने का धमकी दिया जाता है रसड़ा प्रसाशन मूक दरस्क बनी रहती है साशन का होना न होना कोई फायदा नही है आखीर मे कब तक ?????????

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.